COVID-19: हिमाचल में 10 दिन में कोरोना के 1150 केस, ऊना फिर बनने लगा हॉट स्पॉट

 तस्वीर 12 मार्च की है. मंडी शिवरात्रि में सीएम और कैबिनेट मंत्री सहित कई विधायक बिना मास्क के जलेब में निकले हैं.

तस्वीर 12 मार्च की है. मंडी शिवरात्रि में सीएम और कैबिनेट मंत्री सहित कई विधायक बिना मास्क के जलेब में निकले हैं.

Corona virus in Himachal: हिमाचल प्रदेश में कोरोना के मामला दिन-ब-दिन बढ़ने लगा है. दस दिन में कोरोना की रफ्तार काफी बढ़ी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2021, 10:18 AM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal) में कोरोना (Corona Virus) के मामलों ने काफी ज्यादा रफ्तार पकड़ी है. लगातार तीन दिन में प्रदेश में 100 से ज्यादा केस रिपोर्ट हुए हैं. ऐसे में सरकार ने भी सख्ती दिखानी शुरू कर दी है और एक सप्ताह के लिए बंदिशे लगाई हैं. कैबिनेट (Cabinet) ने सभी मेलों और आयोजनों पर लोगों की संख्या को सीमित किया है.

बीते दस दिन का हाल

बीते दस दिन हिमाचल में 1150 केस रिपोर्ट हुए हैं. हालांकि, मौतों की सख्या इतनी ज्यादा नहीं है. शुक्रवार 19 मार्च को सूबे में 182 केस सामने आए हैं. इससे पहले, गुरुवार 18 मार्च को 171 मामले रिपोर्ट हुए थे. बुधवार 17 मार्च को 167 लोगों के कोरोना टेस्ट (Corona Test) की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. वहीं, 16 मार्च 119 केस, 15 मार्च को 75 केस, 14 मार्च 78 केस, 13 मार्च 70, 12 मार्च 88, 11 मार्च 92 और 10 मार्च 108 मामले सामने आए हैं.

सूबे में एक हजार से ज्यादा मौतें
हिमाचल प्रदेश में कोरोना से अब तक 1003 लोगों की मौत हो चुकी है. शिमला जिले में सबसे अधिक 267 मौतें हुई हैं. इसके बाद कांगड़ा जिले में कोरोना ने 215 लोगों की जान ली है. वहीं, मंडी में 128 लोगों की मौत हुई है. इसके अलावा, सोलन में 73, चंबा में 52, ऊना 47, सिरमौर 32, हमीरपुर में 49 और कुल्लू में 84 लोगों की जान गई है.

कहां फैला ज्यादा कोरोना

बीते दस दिन में सूबे के नर्सिंग संस्थानों में बड़ी संख्या में कोरोना के मामले आए हैं. इसके अलावा, ऊना जिले में एकाएक मामलों में तेजी आई है.क्योंकि यह जिला पंजाब से सटा हुआ है और यहां पर पंजाब से लोगों की आवाजाही होती है. ऊना में बीते दो दिन में 130 से ज्यादा केस आए हैं. हालांकि, यहां अब मास्क न पहनने पर 5 हजार रुपये का फाइन लगेगा. वहीं, ऊना के मैडी मेले पर रोक तो लगी है लेकिन यहां बड़ी संख्या में पंजाब से श्रद्धालु आते हैं और यह सरकार के लिए चिंता का सबब है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज