अपना शहर चुनें

States

हिमाचल में कोरोना का खौफ: शिमला में श्मशानघाट से अस्थियां नहीं ले जा रहे परिजन

हिमाचल की राजधानी शिमला.
हिमाचल की राजधानी शिमला.

Corona Virus in Shimla: शिमला जिले में हिमाचल में सबके अधिक कोरोना मामले सामने आ रहे हैं. शिमला देश की कोरोना कैपिटल भी बन गया है. यहां चार गुना रफ्तार से केस बढ़ रहे हैं. अब तक 171 लोगों की मौत हो चुकी है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना (Corona Virus) के शुरुआती दौर में इस बीमारी का काफी खौफ था. फिर बीच में लोग इस बीमारी को हल्के में लेने लगे. एक बार फिर से अब मामले और मौतें (Deaths) बढ़ने के बाद कोरोना का खौफ बढ़ा है. आलम यह है कि प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) में अब लोग कोरोना संक्रमितों की अस्थियां लेने से कतरा रहे हैं. शिमला के श्मशानघाट (Graveyard) में कोरोना वायरस की वजह से मरने वालों के परिजन मृतक की अस्थियां और राख तक नहीं ले रहे हैं. जबकि हिंदू (Hindu) रीति-रिवाज में अस्थियों का नदियों में विसर्जन का महत्व है.

शिमला में अब तक 171 मौतें
शिमला में कोरोना से अब तक 171 लोगों ने जान गंवाई हैं. मृतकों में दूसरे जिलों के भी लोग शामिल हैं. लेकिन प्रोटोकोल के हिसाब से शवों का नजदीकी श्मशानघाट में ही संस्कार किया जाता है. ऐसे में शिमला के कनलोग में संस्कार किया जा रहा है. कनलोग मोक्ष धाम के लॉकर में 65 लोगों के अस्थि कलश पड़े हुए हैं. इन्हें लेने से लोग कतरा रहे हैं. यहां के कर्मी परिजनों को फोन कर रहे है, लेकिन कोई अस्थियां लेने नहीं आ रहा है. मोक्ष धाम की देख रेख सूद सभा करती है. अब सूद सभा ने अस्थियों का सामूहिक विसर्जन करने फैसला लिया है.

क्या बोली सूद सभा
सूद सभा के अध्यक्ष संजय सूद ने कहा कि मोक्ष धाम में हर रोज चार से पांच कोरोना संक्रमितों का दाह संस्कार किया जाता है. यहां कर्मी तैनात किए गए हैं. लोग अस्थियां लेने से डर रहे हैं. 65 लोगों की अस्थियां लॉकर में रखी हुई हैं. अब सभा इनका सामूहिक विसर्जन खुद करेगी और जिला प्रशासन को इसके बारे में पहले अवगत करवा दिया जाएगा.



क्या बोले पंडित
कनलोग मोक्ष धाम के पंडित पवन कुमार का कहना है कि लोग अस्थियां नही ले जा रहे हैं. लोग कोरोना के डर से मोक्ष धाम नहीं आ रहे हैं. जबकि, जब तक अस्थियों को बहाया नहीं जाता है, तब तक उन्हें मोक्ष नहीं मिलता है. उन्होंने कहा जिला प्रशासन अनुमति देगा तो वे सभी अस्थियों को विसर्जन के लिए ले जाएंगे.

शिमला जिले में कोरोना का हाल
शिमला जिले में हिमाचल में सबके अधिक कोरोना मामले सामने आ रहे हैं. शिमला देश की कोरोना कैपिटल भी बन गया है. यहां चार गुना रफ्तार से केस बढ़ रहे हैं. अब तक 171 लोगों की मौत हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज