लाइव टीवी

हिमाचल में पंचायतों में भ्रष्टाचार की होगी विजिलेंस जांच, 3 माह में आएगी रिपोर्ट
Shimla News in Hindi

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: March 3, 2020, 4:51 PM IST
हिमाचल में पंचायतों में भ्रष्टाचार की होगी विजिलेंस जांच, 3 माह में आएगी रिपोर्ट
हिमाचल में पंचायतों में भ्रष्टाचार. (सांकेतिक तस्वीर)

सीएम जयराम ठाकुर ने भी कहा कि जहां से शिकायतें आ रही हैं. उस पर सरकार विजिलेंस जांच भी करवाएगी और तीन महीने में पूरी होंगी.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में पंचायतों में हो रहे भ्रष्टाचार की विजिलेंस जांच होगी. तीन माह में जांच पूरी होगी. सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) विधानसभा के बजट सत्र (Budget Session) के दौरान यह बात कही है. दरअसल, कांग्रेस विधायक हर्षबर्धन चौहान ने अपने विधानसभा क्षेत्र का मुद्दा उठाया, जिस पर सरकार ने जांच की बात कही है.

शिलाई से कांग्रेस विधायक हर्षबर्धन चौहान ने विधानसभा में कहा कि विधायक होने के बावजूद भी मैं पंचायतों में हो रहे भ्रष्टाचार को नहीं रोक पा रहा हूं. यह बाद विधायक ने शिलाई खंड विकास कार्यालय के तहत हो रहे भ्रष्टाचार को उजागर करते हुए कही.

कामों की जांच मांगी
विधायक ने सदन में सरकार से पूछा कि जहां पैसे का दुरुपयोग हो रहा है, वहां सरकार क्या कर रही है? उन्होंने यह भी कहा कि भ्रष्टाचार अब से नहीं बल्कि पिछले 10 साल से हो रहा है, जब सत्ता में कांग्रेस भी थी. हर्षबर्धन चौहान ने शिलाई विकास खंड के तहत हुए कामों की जांच मांगी है.



यह बोले ग्रामीण विकास मंत्री


हर्षबर्धन चौहान के सवाल पर ग्रामीण विकास मंत्री वीरेंद्र कंवर ने साफ किया कि शिलाई ब्लॉक के तहत 15 शिकायतें आई हैं. इनमें आठ पर कार्रवाई भी हुई है. बाकियों की एक माह में जांच पूरी होगी. लेकिन सरकार ने फैसला किया है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए शिलाई विधानसभा क्षेत्र की सभी 48 पंचायतों के कामों की छह महीने भीत्तर जांच होगी और अगले सत्र में उसकी रिपोर्ट सदन में पेश की जाएगी.

तीन महीने में जांच:सीएम
सीएम जयराम ठाकुर ने भी कहा कि जहां से शिकायतें आ रही हैं. उस पर सरकार विजिलेंस जांच भी करवाएगी और तीन महीने में वहपूरी होंगी. सीएम जयराम ठाकुर ने यह भी कहा कि सरकार विजिलेंस जांच करवाने के लिए पूरी तरह तैयार है, लेकिन फिर किसी भी आरोपी के बचाव में कोई न आए, ताकि जांच सही तरीके से चल सके. दरअसल, कई बार आरोप लगते रहे हैं कि पंचायत प्रतिनिधियों के खिलाफ सत्ताधारी दल राजनीतिक द्वेष से जांच करवा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: हिमाचल की भाजपा सरकार ने 2 साल में 136 बाहरियों को दी नौकरी: सीएम

VIDEO: पुलिस अफसर की पत्नी ने महिला को पीटा, हाईवे किनारे किया हंगामा

कुल्लू में खुदाई के दौरान मिला भ्रूण, पुलिस को प्रीमेच्योर डिलिवरी का शक
First published: March 3, 2020, 4:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading