COVID-19 से जंग: हिमाचल के DGP की अपील-रमजान में खूब करें दान, जरुरतमंदों को खिलाएं खाना

कोरोना की वजह से दुनियाभर में रमजान के पवित्र महीने में धार्मिक जुटान पर प्रतिबंध रहेंगे.

कोरोना की वजह से दुनियाभर में रमजान के पवित्र महीने में धार्मिक जुटान पर प्रतिबंध रहेंगे.

इन दिनों रमजान (Ramadan) का पाक महीना चल रहा है. लेकिन कोरोना वायरस (COVID-19) के संकट से जूझ रहे देश में इससे बचाव के लिए लोगों से घरों में रहकर ही रमजान को मनाने की अपील की गई थी, जिसका मुस्लिम समुदाय द्वारा बखूबी पालन किया जा रहा है.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश के डीजीपी एस आर मर्दी ने भी मुस्लिम समुदाय के लोगों से अपील की है कि वो रमजान के पाक महीने में भूखों को खाना खिलाएं और खूब दान करें. दरअसल वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Pandemic Coronavirus) से इस समय पूरा देश जूझ रहा है. संक्रमण न फैले इसके चलते देश में लॉकडाउन (Lockdown) है. इन दिनों रमजान का पाक महीना चल रहा है. लेकिन कोरोना वायरस (COVID-19) के संकट से जूझ रहे देश में इससे बचाव के लिए लोगों से घरों में रहकर ही रमजान को मनाने, नमाज पढ़ने यहां तक कि मस्जिदों में पढ़ी जाने वाली तरावी की नमाज भी घरों में ही पढ़े जाने की अपील की गई है जिसका मुस्लिम समुदाय द्वारा पालन भी किया जा रहा है. मुस्लिम धर्म गुरुओं ने लोगों से घरों में रहकर नमाज पढ़ने और इफ़्तार का खाना गरीबों में बांटने की अपील भी लोगों से की गई है.


फिर से बढ़ रहे हैं हिमाचल में कोरोना के मामले

हिमाचल प्रदेश के डीजीपी एस आर मर्दी ने ANI के जरिये रमजान का महीना शुरू होने से पहले भी लोगों से अपील करते हुए कहा था कि, 'पैगंबर मुहम्मद ने कहा है कि रमजान के दौरान अपनी संपत्ति का ढ़ाई फीसदी दान जरुरतमंदों को दे देना चाहिए. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि रमजान आने वाला है इसलिए मैं अपने मुसलमान भाईयों से यह अनुरोध करता हूं वे गरीबों को खाना खिलाएं साथ ही वो पीएम-केयर्स या फिर सीएम रीलीफ फंड में दान भी कर सकते हैं' उन्होंने अपनी अपील फिर से दुहराई है.
बता दें कि अप्रैल में कोरोना मुक्त होने की कगार पर खड़े हिमाचल प्रदेश में 4 मई के बाद से फिर से केस बढ़ने लगे हैं. मंडी जिले के जोंगिंद्रनगर में दिल्ली से लौटे शख्स में कोरोना पाया गया. इसके बाद पांच मई को सरकाघाट के 21 साल के युवक में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई और शिमला में युवक की मौत हो गई. 3 मई से 10 मई तक अब तक कुल 18 केस रिपोर्ट हुए हैं. इनमें चंबा में पांच केस आए हैं. जबकि, बिलासपुर में दो, हमीरपुर में एक और कांगड़ा में दो केस सामने आए हैं. इन 18 मामलों में चंबा के 5 और कांगड़ा और मंडी के एक-एक मामले को छोड़ दें तो बाकी लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री दिल्ली या दूसरे राज्यों से जुड़ी है. इससे पहले भी शुरुआत में हिमाचल में कोरोना का फैलने का कारण बाहरी राज्यों से ट्रैवल हिस्ट्री ही रही थी.

ये भी पढ़ें- Exclusive: शिमला में शव की फिर बेकद्री! IGMC के बाहर ‘लावारिस’ पड़ा रहा कोरोना संदिग्ध का शव

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज