COVID Vaccination: हिमाचल में 18+ के टीकाकरण के लिए अभी ऑनलाइन ही होगा रजिस्ट्रेशन

हिमाचल में कोरोना वैक्सीनेशन.

हिमाचल में कोरोना वैक्सीनेशन.

COVID Vaccination Slot: प्रदेश में 18 से 44 वर्ष तक के आयुवर्ग के लिए टीकाकरण की अगली तिथि 27 मई, 2021 को निर्धारित की गई है, जिसके लिए कोविन पोर्टल तथा आरोग्य सेतु ऐप के माध्यम से 25 मई, 2021 को दोपहर 2.30 बजे से लेकर 3 बजे तक स्लॉट खोले जाएंगे.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश में 18 से 44 साल के लोगों के टीकाकरण (Vaccination) के लिए फिलहाल, ऑनलाइन ही बुकिंग (Booking) होगी. केंद्र के फैसले को अभी कुछ समय के लिए लागू नहीं किया जाएगा.

स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के प्रवक्ता ने बताया कि भारत सरकार से प्राप्त सूचना के अनुसार कोविन पोर्टल पर 18 से 44 वर्ष तक के आयुवर्ग के लिए ऑन-साइट पंजीकरण तथा अप्वाइंटमेंट की सुविधा भी प्रदान की जा रही है. हालांकि, वर्तमान में यह सुविधा केवल सरकारी कोविड टीकाकरण केन्द्र में ही दी जाएगी. यह सुविधा निजी कोविड टीकाकरण केन्द्रों में उपलब्ध नहीं है तथा उन्हें आॅनलाइन अप्वाइंटमेंट के लिए स्लॉट सहित अपना टीकाकरण शेड्यूल प्रकाशित करना होगा.

भीड़ का अंदेशा, इसलिए ऑनलाइन बुकिंग

प्रवक्ता ने कहा कि भारत सरकार ने सूचना दी है कि टीकाकरण स्थलों पर भीड़ को रोकने के लिए 18 से 44 वर्ष तक के आयुवर्ग के लिए ऑन-साइट पंजीकरण तथा अप्वाइंटमेंट खोलने के दौरान देखभाल के साथ काफी सावधानी बरती जानी चाहिए. भारत सरकार ने स्थानीय परिस्थितियों के आधार पर आॅन-साइट पंजीकरण को खोलने के निर्णय को राज्य सरकारों तथा केन्द्र शासित राज्यों को सौंपा है, जिस पर जल्द ही निर्णय लिया जाएगा.
आज होगी बुकिंग

उन्होंने कहा कि प्रदेश में 18 से 44 वर्ष तक के आयुवर्ग के लिए टीकाकरण की अगली तिथि 27 मई, 2021 को निर्धारित की गई है, जिसके लिए कोविन पोर्टल तथा आरोग्य सेतु ऐप के माध्यम से 25 मई, 2021 को दोपहर 2.30 बजे से लेकर 3 बजे तक स्लॉट खोले जाएंगे. प्रदेश में कोरोना कफ्र्यू के कारण टीकाकरण स्थलों पर भीड़ इकट्ठा होने की संभावना के दृष्टिगत पहले की तरह सत्र ऑनलाइन प्रकाशित किए जाएंगे तथा 27 मई, 2021 को टीकाकरण के लिए 18 से 44 वर्ष तक के आयुवर्ग के सभी व्यक्तियों को ऑनलाइन अप्वाइंटमेंट बुक करनी होगी. उन्होंने कहा कि ऑन-साइट पंजीकरण तथा कोहार्ट पंजीकरण की सुविधा के लिए हिमाचल प्रदेश के जनजातीय, ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों की स्थानीय परिस्थितियों के आधार पर शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा तथा लोगों को इस बारे जानकारी प्रदान की जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज