शिमला में खुलेंगी गौशालाएं, टॉपर छात्रों को मिलेगा लैपटॉप

गौ धन की रक्षा के लिए शिमला नगर निगम ने गौशालाओं के निर्माण का फैसला लिया है.
गौ धन की रक्षा के लिए शिमला नगर निगम ने गौशालाओं के निर्माण का फैसला लिया है.

शिमला नगर निगम ने अब शहर में चार-पांच स्थान चिन्हित किए हैं, जहां पर गौसदन का निर्माण किया जा सकता है.

  • Share this:
गौ धन की रक्षा के लिए शिमला नगर निगम ने कदम बढ़ाया है. नगर निगम क्षेत्र में भी कई आवारा गाएं सड़कों पर नजर आती हैं, लेकिन इनके लिए कहीं कोई ठौर नही है. इसे देखते हुए नगर निगम ने गौशाला बनाने का फैसला लिया है. हालांकि मेयर ने इसकी घोषणा अपने 2019-20 के बजट में भी की थी, लेकिन अभी तक इस संबंध में कोई कदम नहीं उठाया था.

नगर निगम ने अब शहर में चार-पांच स्थान चिन्हित किए हैं, जहां पर गौसदन का निर्माण किया जा सकता है. नगर निगम की मेयर कुसुम सदरेट ने कहा कि गौ धन की सुरक्षा को लेकर नगर निगम गम्भीर है और जल्द ही इनके सरंक्षण के लिए गौ सदनों का निर्माण किया जायेगा.

पांजडी, टूटू, मल्याणा समेत अन्य जगहों पर बनेगी गौशालाएं



Kusum sadret-कुसुम सदरेट
नगर निगम की मेयर कुसुम सदरेट ने कहा कि गौ धन की सुरक्षा के लिए गौ सदनों का निर्माण किया जायेगा.

कुसुम सदरेट का कहना है कि निगम प्रशासन ने पांजडी, टूटू, मल्याणा समेत एक दो और स्थान चिन्हित कर लिए हैं और जल्द ही शिलान्यास कर गौशालाओं का निर्माण किया जाएगा. मेयर ने कहा कि आज उन्होंने बजट घोषणाएं की समीक्षा भी की और जो घोषणाएं अभी तक अधूरी हैं उन्हें पूरा करने को लेकर अधिकारियों को जरूरी हिदायतें दी गई हैं.

टॉप करने वाले छात्रों को मिलेगा लैपटॉप

गौरतलब है कि फरवरी माह में ही मेयर ने अपने कार्यकाल के दूसरे और अंतिम बजट भाषण में महापौर कुसुम सदरेट ने शहरवासियों को लुभाने के लिए कई नई योजनाओं को शामिल किया था. इनमें निगम ने शहर के सभी अस्पतालों में आने वाले मरीजों और तीमारदारों को मुफ्त में खाना देने के लिए निगम रसोई योजना शुरू करने का ऐलान किया है. बजट में निगम की परिधि में आने वाले सरकारी स्कूलों के10 वीं और 12वी कक्षा में प्रदेश स्तर पर प्रथम आने वाले छात्रों को लैपटॉप देने का वादा किया था.

 नगर निगम को पेपर लैस बनाने की भी योजना

नगर निगम ने इसके अलावा गौ संरक्षण केंद्र बनाने की योजना भी शामिल की है, जिसके माध्यम से नगर निगम नए गौ सदन बनाकर इनका संरक्षण करेगा. इसके अलावा बजट में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत नगर निगम फिर से स्वास्थ्य सेवा प्रयोगशाला आरंभ करना और नगर निगम को पेपर लैस करने के लिए ई विधान प्रणाली लागू करने का भी जिक्र किया था. हालांकि, इन सभी घोषणाओं पर अभी मुहर लगना बाकि है.

यह भी पढ़ें: दो भाइयों पर जातिसूचक शब्द को लेकर में फंसाने का लगा आरोप

जलशक्ति अभियान: नई तकनीक से पुरानी बावड़ी से मिलने लगा पानी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज