लाइव टीवी

CPIM ने निगम पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- हाउस के भीतर और बाहर भ्रष्टाचार का बोलबाला

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 11, 2019, 6:12 PM IST
CPIM ने निगम पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- हाउस के भीतर और बाहर भ्रष्टाचार का बोलबाला
प्रेस कॉन्फ्रेंस में CPIM नेता संजय चौहान ने कहा कि MC में भ्रष्टाचार की जांच की जाए नहीं तो उग्र आंदोलन किया जाएगा.

पूर्व मेयर (Mayor) और माकपा नेता संजय चौहान (CPIM leader Sanjay Chauhan) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एमसी प्रशासन की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल खड़े किए. पूर्व महापौर ने आरोप लगाया कि भाजपा (BJP) शासित नगर निगम में आम जनता से जुड़ा कोई कार्य नहीं हो रहा है बल्कि इसके विपरीत भ्रष्टाचार (Corruption) बड़े पैमाने पर हो रहा है.

  • Share this:
शिमला. नगर निगम प्रशासन (Municipal administration) और माकपा (CPIM) के बीच काफी वक्त से गतिरोध जारी है. इस बीच पूर्व मेयर (Mayor) और माकपा नेता संजय चौहान (CPIM leader Sanjay Chauhan) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एमसी प्रशासन की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल खड़े किए. पूर्व महापौर ने आरोप लगाया कि भाजपा (BJP) शासित नगर निगम में आम जनता से जुड़ा कोई कार्य नहीं हो रहा है बल्कि इसके विपरीत भ्रष्टाचार (Corruption) बड़े पैमाने पर हो रहा है. उन्होंने कहा कि जल विभाग का सामान बेचने का मामला और खलीणी पार्किंग भ्रष्टाचार इसके बड़े उदाहरण हैं. माकपा नेता संजय चौहान ने कहा कि एमसी प्रशासन ने खलीणी पार्किंग में घपले के मामले पर हाईकोर्ट (High Court) में हलफनामा देकर कहा कि इसमें अधिकारी शामिल हैं. इस पर संजय चौहान ने जानना चाहा कि अगर अधिकारी शामिल हैं तो अब तक FIR क्यों नहीं की गई ? उन्होंने कहा कि हाउस के अंदर और बाहर भ्रष्टाचार का बोलबाला है. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस (CPIM Press Conference) में माकपा ने सरकार से मांग की कि सभी मामलों की जांच की जाए.

तहबाजारियों से की जा रही है अवैध वसूली

तहबाजारियों के मामले पर संजय चौहान ने आरोप लगाया कि इनकी समस्याओं का हल करने के बजाए इनसे अवैध तरीके से वसूली की जा रही है. उन्होंने कहा कि एक क्लर्क जो किसी तरह का जुर्माना करने के लिए अधिकृत नहीं है, वह तहबाजारियों पर जुर्माने ठोक रहा है. 500 रुपए के सामान पर 2 हजार रुपए का फाइन किया गया है. इसके अलावा NGO भी 500-500 रुपए की वसूली कर रही है. उन्होंने कहा कि क्वालिटी सर्विस एंड ट्रेनिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी इस तरह की वसूली कर रही है.

CPIM नेता ने कहा कि तहबाजारियों की समस्याओं का हल करने के बजाय उनसे अवैध वसूली की जा रही है.


चौहान ने आरोप लगाया कि स्ट्रीट वेंडर एक्ट 2014 का उल्लंघन किया जा रहा है. इस एक्ट के तहत तहबाजारियों को सर्टिफिकेट दिए बिना न तो उन पर कार्रवाई की जा सकती और न ही उन्हें विस्थापित किया जा सकता है.

निगम आयुक्त के साथ सीटू नेता की बदतमीजी पर ये कहा ...

नगर निगम आयुक्त के साथ सीटू नेता की ओर से की गई बदतमीजी के मामले पर पूछे गए सवाल पर संजय चौहान ने कहा कि इस बारे में ज्यादा कहना सही नहीं, क्योंकि यह मामला अदालत में विचाराधीन है. हालांकि उन्होंने इतना जरूर कहा कि घटना की पूरी वीडियो देखी जानी चाहिए. माकपा की पार्षद के बयान पर संजय चौहान ने कहा कि शैली शर्मा के बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया. समरहिल से पार्षद शैली शर्मा ने विजेंद्र मेहरा के बर्ताव को गलत करार दिया था.ये भी पढ़ें - 11 दिन से लापता शुभम: आरोपी दोस्त का होगा Polygraph टेस्ट, कोर्ट ने दी मंजूरी

ये भी पढ़ें - भाजपा, कांग्रेस समेत निर्दलीय पार्षद भी कर रहे मेयर बनने का दावा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 6:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर