CPIM विधायक राकेश सिंघा, शिमला के पूर्व मेयर समेत 55 के खिलाफ FIR

जुब्बल के नायब तहसीलदार ने अपनी शिकायत में कहा कि 14 मई को देर रात साढ़े 11 बजे जब वह अपने ऑफिस में थे तो राकेश सिंघा के नेतृत्व में 55 किसान वहां पहुंचे और नारेबाजी की और सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाई.


Updated: May 16, 2018, 10:42 AM IST
CPIM विधायक राकेश सिंघा, शिमला के पूर्व मेयर समेत 55 के खिलाफ FIR
CPIM MLA Rakesh and Former Shimla Mayor Sanjay Chauhan.

Updated: May 16, 2018, 10:42 AM IST
हिमाचल विधानसभा में इकलौते माकपा विधायक के खिलाफ शिमला के जुब्बल थाने में एफआईआर दर्ज की गई है. विधायक राकेश सिंघा के अलावा, शिमला के पूर्व मेयर समेत 55 लोगों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया. इन पर सरकारी काम में बाधा पहुंचाने का आरोप है.

जानकारी के अनुसार, जुब्बल के नायब तहसीलदार ने अपनी शिकायत में कहा कि 14 मई को देर रात साढ़े 11 बजे जब वह अपने ऑफिस में थे तो राकेश सिंघा के नेतृत्व में 55 किसान वहां पहुंचे और नारेबाजी की और सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाई.

बता दें कि ये सभी एक बागवान की मलकीयत जमीन पर सेब के पेड़ काटने के विरोध यहां पहुंचे थे. हालांकि, हाईकोर्ट के आदेश पर अवैध कब्जों पर सेब के पेड़ काटने को लेकर कार्रवाई चल रही है.

वहीं, पुलिस ने आईपीसी की धारा-143,342,186 के तहत जुब्बल थाने में मामला दर्ज किया है. राकेश सिंघा शिमला के ठियोग से माकपा के विधायक हैं. उनके साथ माकपा के कई सीनियर नेता भी इस दौरान मौजूद थे.

ये बोले सिंघा
वहीं, केस दर्ज होने पर राकेश सिंघा ने कहा कि रोहड़ू के डीएफओ ने सारे कानूनों को धत्ता बता कर पेड़ काटे हैं. सिंघा ने कहा कि वह जमीन मलकीयत थी. अगर कोई भी यह साबित कर दे कि वह जमीन मलकीयत नहीं थी तो मैं अपनी विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दूंगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर