लाइव टीवी

तहबाजारियों पर कार्रवाई को लेकर पार्षदों में मतभेद, नियमों के तहत कार्रवाई के निर्देश

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: October 31, 2019, 11:19 PM IST
तहबाजारियों पर कार्रवाई को लेकर पार्षदों में मतभेद, नियमों के तहत कार्रवाई के निर्देश
शिमला - मासिक बैठक में निगम को ई विधान प्रणाली से जल्द जोड़ने पर हुई चर्चा

भाजपा पार्षद किम्मी सूद ने निगम की टीम पर आरोप लगाया कि दिवाली सीजन के दौरान जब अवैध तहबाजारियों पर कार्रवाई की गई तो निगम के कर्मचारी उनके पैसे भी ले गए.

  • Share this:
शिमला. राजधानी शिमला (Shimla) में बढ़ते अवैध तहबाजारियों (Footpath Vendors) के अतिक्रमण (Encroachment) को लेकर नगर निगम शिमला (Municipal Corporation Shimla) के पार्षद भी एकजुट नहीं दिख रहे हैं. वीरवार को हुई नगर निगम शिमला की मासिक बैठक में निगम के पार्षद (Councilor) अलग थलग दिखाई दिए. एक ओर भाजपा समर्थित पार्षद दिवाली सीजन के दौरान अवैध तहबाजारियों पर की गई कार्रवाई से नाखुश दिखे तो दूसरी ओर निगम के पार्षद कार्रवाई को लेकर खुश दिखाई दिए. वहीं निगम आयुक्त ने अवैध तहबाजारियों पर नियमों के तहत कार्रवाई करने की बात कही है.

पंजीकृत तहबाजारियों को बसाने की मांग

भाजपा पार्षद किम्मी सूद ने निगम की टीम पर आरोप लगाया कि दिवाली सीजन के दौरान जब अवैध तहबाजारियों पर कार्रवाई की गई तो निगम के कर्मचारी उनके पैसे भी ले गए. इस बात को लेकर निगम आयुक्त पार्षद पर आग बबूला हुए और साफ कहा कि प्रशासन के समक्ष अभी तक किसी भी तहबाजारी ने इस तरह का कोई आरोप नहीं लगाया है. उन्होंने कहा कि पार्षद अवैध तहबाजारियों की तरफदारी कर रहे हैं जिसका नाजायज फायदा उठाकर वे शहर में जगह जगह कब्जा जमा रहे हैं. उन्होंने बचाव करने वाले पार्षदों को जवाब देते हुए कहा कि शहर में किसी भी तहबाजारी को फुटपाथ पर नहीं बैठने दिया जाएगा.  उन्होंने कहा कि लोअर बाजार सब्जी मंडी में बैठने वाले तहबाजारियों को आज तक का समय दिया गया है. कल उन्हें भी हटाया जाएगा. पार्षद किम्मी सूद का कहना है कि स्ट्रीट वेंडर एक्ट के तहत पंजीकृत तहबाजारियों को बसाया जाए उसके बाद ही इन पर कार्रवाई की जाए.

अवैध तहबाजारियों पर होगी कार्रवाई

मेयर कुसुम सदरेट (Kusum Sadret) ने कहा कि शहर में अवैध तहबाजारी नगर निगम के लिए दिनों दिन मुसीबत बनते जा रहे हैं. निगम की टीम समय समय पर उनपर कार्रवाई करती है. उन्होंने कहा कि दिवाली सीजन के दौरान निगम की टीम पर पैसे ले जाने के जो आरोप लगाए जा रहे हैं वे निराधार हैं. उन्होंने कहा कि यदि यह सच है तो इसकी जांच की जाएगी. उन्होंने कहा कि शहर में जो भी तहबाजारी जगह जगह पर निगम की अनुमति के बगैर बैठेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

मेयर कुसुम सदरेट ने कहा कि शहर में अवैध तहबाजारी नगर निगम के लिए दिनों दिन मुसीबत बनते जा रहे हैं.


मेयर कुसुम सदरेट की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई मासिक बैठक में शहर से जुड़े विभिन्न विकासकार्यों पर चर्चा हुई.  रानी झांसी पार्क और टक्का बैंच के सौन्दर्यीकरण पर करीब एक करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे. साथ ही बैनमोर वार्ड में एम्बुलेंस रोड का निर्माण किया जाएगा. मासिक बैठक के दौरान नगर निगम शिमला को ई विधान प्रणाली से जोड़ने पर भी चर्चा की गई जिसमें प्रदेश विधानसभा के आईटी प्रमुख ने निगम सदन को एक प्रेजेंटेशन भी दी. फरवरी माह तक नगर निगम शिमला को ई विधानप्रणाली से जोड़ने पर जोर दिया गया.
Loading...

ये भी पढ़ें - महिला सुरक्षाकर्मी की थप्पड़ से बेहोश हुई चौथी कक्षा की बच्ची,मामला पुलिस में

ये भी पढ़ें - 1984 सिख विरोधी दंगे पर लिखी पुस्तक 'ब्लैक नवंबर' का विमोचन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 11:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...