हाईकोर्ट के आदेश की अनदेखी, दिव्यांगों को नहीं मिल रही मुफ्त शिक्षा व सुविधाएं

दिव्यांगो के लिए सभी तरह के सरकारी शैक्षिणक संस्थानों में मुफ्त शिक्षा का अधिकार है. लेकिन प्रदेश के किसी भी स्कूल कॉलेज या अन्य संस्थानों में उन्हें ये अधिकार नहीं मिल रहा है.

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 8, 2019, 7:57 AM IST
हाईकोर्ट के आदेश की अनदेखी, दिव्यांगों को नहीं मिल रही मुफ्त शिक्षा व सुविधाएं
हिमाचल में दिव्यांगों को नहीं मिल रही मुफ्त शिक्षा व सुविधाएं
Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 8, 2019, 7:57 AM IST
दिव्यांगो के अधिकारो के लिए काम कर रही सामाजिक संस्था उमंग फाउडेशन ने हिमाचल में शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं. संस्था का कहना है कि प्रदेश के शैक्षिणक संस्थानों में दिव्यांगो के अधिकारों की अनदेखी की जा रही है. दिव्यांगो के लिए सभी तरह के सरकारी शैक्षिणक संस्थानों में मुफ्त शिक्षा का अधिकार है. लेकिन प्रदेश के किसी भी स्कूल कॉलेज या अन्य संस्थानों में उन्हें ये अधिकार नहीं मिल रहा है.

हाईकोर्ट ने 4 जून 2015 को आदेश दिया था कि दिव्यांग जनों को सभी तरह के सरकारी शिक्षण संस्थानों में मुफ्त शिक्षा दी जाए. लेकिन प्रदेश के विश्वविद्यालयों को छोड़ कर किसी भी स्कूल और कॉलेजों या अन्य संस्थानों में न तो मुफ्त शिक्षा दी जा रही है और न ही सुविधाएं मिल रही हैं. हाईकोर्ट के आदेशों की अवहेलना की जा रही है.

सरकार की ओर से भी कोई कदम नहीं उठाए गए हैं. उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष अजय श्रीवास्तव का कहना है कि मुख्यमंत्री के ध्यान में भी इस मुद्दे को लाया गया है. अजय श्रीवास्तव ने सरकार से मांग की कि मुफ्त शिक्षा के साथ साथ छात्रों को पढ़ाई के लिए कम्प्यूटर और अन्य साधन उपलब्ध करवाए जाएं.

ये भी पढ़ें- हिमाचल : अधर में लटका 150 फीमेल हेल्थ वर्करों का भविष्य

ये भी पढ़ें- सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, होटल में सजी थी जिस्म की मंडी
First published: July 8, 2019, 7:03 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...