Drone से होगी 5 हजार करोड़ के Apple की रखवाली, जानें क्या है मामला

हिमाचल में 15 जुलाई से एप्पल सीजन की शुरुआत हो रही है.

Himachal Pradesh में एप्पल सीजन शुरू हो रहा है, ऐसे में हिमाचल पुलिस ने कमर कस ली है और ट्रैफिक से लेकर सेब के ट्रकों की रखवाली तक का पूरा इंतजाम कर लिया गया है. साथ ही मंडियों में कोरोना नियमों के तहत काम करवाने के लिए पुलिसकर्मियों की तैनाती भी की गई है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में आधिकारिक तौर पर 15 जुलाई से सेब का सीजन शुरू हो रहा है. इसके लिए अब शिमला पुलिस ने भी कमर कस ली है और एक मास्टर प्लान तैयार किया गया है. करीब तीन महीने तक चलने वाले एप्पल सीजन के लिए शिमला जिले में 11 पुलिस बैरियर के साथ ही पांच जगहों पर कंट्रोल रूम की स्‍थापना की गई है. इसके साथ ही 200 से ज्यादा पुलिसकर्मी चप्पे चप्पे की ट्रैफिक व्यवस्‍था पर नजर रखेंगे.
शिमला के एसपी मोहित चावला ने बुधवार को बताया कि करीब 5 हजार करोड़ रुपये का बाजार रखने वाले सेब कारोबार की फसल का उत्पादन भी इस बार ज्यादा होने की उम्मीद है. अनुमान है कि इस बार 2 करोड़ सेब की पेटियां होंगी जिसके लिए 40 हजार से ज्यादा ट्रक राज्य में आएंगे. इससे ट्रैफिक व्यवस्‍था बिगड़ सकती है. इसका कारण है कि एक तरफ शिमला में बड़ी संख्या में पर्यटक आ रहे हैं और इसी दौरान सेब का सीजन होने के चलते भारी वाहनों का भी प्रवेश होगा. जिससे ट्रैफिक व्यवस्‍था चरमरा सकती है.

ऐसे रोकेंगे चोरी
चावला ने बताया कि सेब ट्रकों की चोरी रोकने के लिए एप से नजर रखी जाएगी. सेब की ढुलाई करने वाले ट्रकों पर एप के जरिए पुलिस नजर रखेगी और सभी सेब मंडियों में सीसीटीवी कैमरे स्‍थापित किए जाएंगे. साथ ही ड्रोन कैमरों की मदद से ट्रैफिक व्यवस्‍था के साथ ही सेब के ट्रकों पर भी नजर रखी जाएगी. वहीं उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए नियमों का पालन सभी मंडियों में करवाया जाएगा और इसके लिए मंडी में भी पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे. शिमला में ट्रैफिक जाम की समस्या पेश न आए, इसके लिए छराबड़ा में बैरियर स्थापित किया जाएगा. छराबड़ा से सेब के ट्रक नियंत्रित तरीके से शिमला भेजे जाएंगे. सीजन में सेब ट्रकों के दुर्घटनाग्रस्त होने पर विभागों के समन्वय से रेस्क्यू किया जाएगा. ट्रकों को सड़कों से हटाने के लिए पुलिस प्रशासन, लोनिवि, राष्ट्रीय राजमार्ग और एचआरटीसी से तकनीकी सहायता ली जाएगी.

24 घंटे टोल फ्री नंबर करेगा मदद
इसके अलावा किसी भी समस्या से निपटने के लिए शिमला पुलिस ने टोल फ्री नम्बर 8894728012 जारी किया है. जिस पर ट्रैफिक से लेकर अन्य समस्याओं की शिकायत व्हाट्सएप पर फोटो और वीडियो के माध्यम से शेयर कर सकते हैं. चावला ने बताया कि सेब सीजन के दौरान सेब ढुलाई करने वाले ट्रकों पर तकनीक की मदद से नजर रखी जाएगी. मोबाइल एप के जरिये ही ट्रक चालकों के आईकार्ड जांचे जाएंगे. कौन से बैरियर से ट्रक कब गुजरा, इसका पूरा विवरण एप पर दर्ज रहेगा. सेब के ट्रकों के गायब होने की घटनाओं पर इसकी मदद से अंकुश लगेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.