लाइव टीवी

हिमाचल में नशे की वजह से बढ़ रहा अपराध और चोरी की घटनाएं: DGP
Shimla News in Hindi

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 17, 2020, 4:46 PM IST
हिमाचल में नशे की वजह से बढ़ रहा अपराध और चोरी की घटनाएं: DGP
हिमाचल के डीजीपी सीता राम मरडी.

डीजीपी (DGP) का कहना है कि नशेड़ियों को पकड़ना और उन्हें जेल में डालना ही स्थाई समाधान नहीं है. नशे की लत छुड़वाना जरूरी है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में नशे के मामले पर डीजीपी (DGP) सीराम मरडी का ने बड़ा बयान दिया है. DGP के मुताबिक, नशे के चलते 2019 में आपराधिक घटनाएं बढ़ी हैं. नशे से जुड़े अपराध में साल 2019 में 1450 मामले दर्ज हुए. विदेशी नागरिकों और महिलाओं समेत कुल 1924 लोग गिरफ्तार किए गए.

नशे की लत छुड़वाना जरूरी
डीजीपी (DGP) का कहना है कि नशेड़ियों को पकड़ना और उन्हें जेल में डालना ही स्थाई समाधान नहीं है. नशे की लत छुड़वाना जरूरी है.नशा निवारण कार्यक्रम साथ-साथ चलना चाहिए. News 18 से बातचीत में डीजीपी ने कहा कि जमानत मिलने के बाद आरोपी फिर से नशे करता है. तस्करी शुरू कर देता है और पैसे के लिए चोरियां करना शुरू कर देता है, जिसके चलते क्राइम बढ़ता है. उन्होंने कहा कि पुलिस का अभियान जारी है.

पंचायत स्तर पर काम



शिमला और सोलन (Shimla and Solan) जिले को छोड़कर अन्य सभी जिलों में पंचायत स्तर पर नशा निवारण समिति का गठन किया गया है. अब पंचायतों के हरेक वार्ड में समिति का गठन किया जाएगा. लोगों को जागरूक किया जाएगा.साथ ही कहा कि इस अभियान में समाज के हर वर्ग को आगे आना होगा और नशे के खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लड़ने की जरूरत है.

बढ़ते जा रहे हैं अपराध
पुलिस विभाग ने उत्तरी खंड धर्मशाला द्वारा जारी पूर्व के वर्षों के आपराधिक मामलों में बड़ा खुलासा हुआ है. वर्ष 2019 में कांगड़ा-चंबा व ऊना के तहत 6344 मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि 2018 में 6323 केस पंजीकृत हुए थे. इसके तहत नॉर्थ जोन में पिछले नौ वर्षों 2010 से लेकर 2019 में सबसे कम मर्डर के मामले दर्ज हुए हैं. 2010 में 41 हत्या, 2011 में 42, 2013 में 44, 2015 में 45, 2016 में 34, 2017 में 36, 2018 में 39 और 2019 में 29 मामले दर्ज हुए हैं. हत्या के प्रयास में पूर्व के वर्ष में 12 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें सभी को सुलझाने की बात पुलिस विभाग ने की है. वहीं, उत्तरी खंड धर्मशाला में पूर्व वर्ष में 75 ब्लात्कार के मामले दर्ज किए हैं. डीजी ने कहा कि नशे के संबंध में सूचना देने के लिए ‘अपराध मुक्त मोबाइल एप्प’ लॉंच की गई है. कुछ दिनों में यह एप्प कार्य करना शुरू कर देगी. इसके माध्यम से लोग सूचना दे सकते हैं और सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा.

ये भी पढ़ें: नेपाल से 8.090 किलो चरस लेकर जा रहे थे कसोल, महिला सहित 3 गिरफ्तार

8 घंटे 18 किमी: महिलाओं ने गर्भवती को कंधों पर उठाकर पहुंचाया अस्पताल

Weather Alert: शिमला में सामान्य से 8 डिग्री ज्‍यादा हुआ तापमान, तूफान के आसार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 17, 2020, 4:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर