कोरोना संकट के बीच 1000 करोड़ रुपये का कर्ज लेगी हिमाचल सरकार

हिमाचल प्रदेश. (सांकेतिक तस्वीर)
हिमाचल प्रदेश. (सांकेतिक तस्वीर)

Loan issue in Himachal: जब प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी थी तो सूबे पर 45 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा कर्ज था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 2:54 PM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal) की भाजपा सरकार (BJP Govt) कोरोना संकट के बीच 1000 करोड़ रुपये का कर्ज (Loan) लेने जा रही है. इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई है. यह कर्ज प्रदेश सरकार दो किश्तों में लेगी. इस महीने के अंत में यह पैसा सरकार के खाते में आएगा.

अधिसूचना के अनुसार, दो किश्तों में 500-500 करोड़ कर्ज लिया जाएगा. 27 अक्टूबर को कर्ज लेने संबंधी औपचारिकता पूरी होगी और 28 अक्टूबर को सरकार के खाते में धनराशि आएगी. बताया जा रहा है कि प्रदेश में विकास कार्यों के लिए कर्ज लिया जा रहा है.

सूबे पर 55 हजार करोड कर्ज
हिमाचल प्रदेश पर मौजूदा समय में 55 हजार करोड़ का कर्ज का है. मौजूदा सरकार भी अपने ढाई साल के कार्यकाल में 7 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का कर्ज ले चुकी है. ऐसे में अब फिर से एक हजार करोड़ का कर्ज लिया जा रहा है. जब प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी थी तो सूबे पर 45 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा कर्ज था.
क्या है नियम



सरकार को कई बार कर्ज और ब्याज चुकाने के लिए भी कर्ज लेना पड़ रहा है. हालांकि इस बार कोरोना संकट के चलते तमाम आर्थिक गतिविधियां भी बंद रही हैं. यही वजह है कि सरकार को राजस्व का भी नुकसान हुआ है. चूंकि हिमाचल में कर्ज लेने की परंपरा कभी नहीं टूटी है. सत्ता में जो भी सरकार आती है, वो कर्ज की वैसाखियों के सहारे ही सरकार चलाने की कोशिश करती है, जबकि विपक्ष में रहते हुए कर्ज का ही रोना रोया जाता है. नियमों के तहत हिमाचल सकल घरेलू उत्पाद का 3 प्रतिशत तक सालाना कर्ज ले सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज