लाइव टीवी

हिमाचल में अब तक बर्फबारी-बारिश से 8 मौतें, 21 करोड़ रुपये का नुकसान
Shimla News in Hindi

Vinod Kumar Katwal | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 23, 2020, 11:48 AM IST
हिमाचल में अब तक बर्फबारी-बारिश से 8 मौतें, 21 करोड़ रुपये का नुकसान
मनाली में इस सीजन में जमकर बर्फबारी हुई है. (FILE PHOTO)

Weather in Himachal: हिमाचल में अगले एक सप्ताह तक मैदानी इलाकों में मौसम साफ रहेगा. 28 जनवरी तक मैदानी इलाकों में बारिश की संभावना नहीं हैं. वहीं. 23 जनवरी को प्रदेशभर में मौसम साफ रहने का अनुमान है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में बीते डेढ़ माह में हुई बारिश बर्फबारी से जान-माल का खासा नुकसान हुआ है. बारिश-बर्फबारी (Snowfall and Rain) के चलते जहां 8 लोगों को जान (Death) गंवानी पड़ी है. वहीं, 21 करोड़ रुपये का नुकसान (Loss) भी हुआ है. सरकार (Himachal Govt) को भेजी गई रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है. अब सरकार नुकसान का मेमो बनाकर केंद्र को भेजेगा और नुकसान की भरपाई की मांग करेगी.

यह है डेढ़ माह की रिपोर्ट
सरकार को भेजी गई रिपोर्ट अनुसार, सूबे भर में बारिश बर्फबारी से सरकारी संपत्ति को 21 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. पीडब्ल्यूडी को 14 करोड़ और आईपीएच को 5 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. इसके अलावा, निजी संपत्ति को 5.43 करोड़ का नुकसान पहुंचा है. 12 दिसम्बर 2019 से 22 जनवरी 2020 तक नुकसान की रिपोर्ट बनाई गई हैं. इसमें 8 लोगों की मौत हुई है. ये मौतें भूस्खलन, ग्लेशियर के नीचे दबने, ठंड और आग लगने से हुई हैं.

यहां-यहां गिरी इतनी बर्फ

कुल्लू के रोहतांग दर्रा पर सूबे में सबसे ज्यादा 350 सेंटीमीटर बर्फ से गिरी है. इसके अलावा, कांगड़ा के बड़ा भंगाल में 167 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की गई. वहीं, शिमला के खड़ापत्थर में 140 सेंटीमीटर, नारकंडा में 133 सेंटीमीटर से ज्यादा बर्फ गिरी है. शिमला जिले में बीते एक माह में छह बार बर्फ गिरी है.

शिमला में बर्फबारी. (File Photo)
शिमला में बर्फबारी. (File Photo)


198 सड़कें बाधितसूबे में बारिश और बर्फबारी से चार हाईवे समेत 198 सड़कें बंद हैं. इसमें लेह-मनाली, कुल्लू-आनी, तांदी संसारीनाला और काजा ग्राम्फू हाईवे बंद हैं. इन्हें खोलने के लिए 204 जेसीबी मशीनें लगाई गई हैं.

आईपीएच की स्कीमें प्रभावित
हिमाचल के ग्रामीण क्षेत्रों में 1797 स्कीमें ठप पड़ी हैं. वहीं, शहरी क्षेत्रों में पांच पेयजल स्कीमें प्रभावित हुई हैं. इसके अलावा, 167 सिंचाई योजनाएं बाधित हैं. सूबे में बर्फ से प्रभावित इलाकों में बिजली व्यवस्था भी ठप है. 179 ट्रांसफार्मर ठप हैं.

कुफरी में लगातार हिमपात हुआ है. (FILE PHOTO)
कुफरी में लगातार हिमपात हुआ है. (FILE PHOTO)


बहाली के कार्यों की समीक्षा
आपाद प्रबंधन और राजस्व एवं कृषि विभाग के प्रधान सचिव ओंकार शर्मा ने बर्फबारी के दौरान राहत कार्यों के लिए तैयारी और जन सुविधाओं की बहाली के कार्यों की समीक्षा की. उन्होंने विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों तथा सभी जिलों के उपायुक्तों के साथ वीडियो कांफ्रेंस की.ओंकार शर्मा ने कहा कि सभी जिलों को आपदा प्रबंधन के दौरान बेहतर संचार व्यवस्था बनाए रखने के लिए सेटेलाईट फोन दिए गए हैं. राज्य के विभिन्न स्थानों में हैलीपैड बनाने के लिए 51 स्थल चिन्हित किए गए हैं, जिससे किसी भी आपदा के दौरान विभिन्न राहत कार्य करने में मदद मिलेगी. केंद्र से अब तक 27 प्रतिशत राहत राशि मिली है.

ये रहेगा मौसम का हाल
हिमाचल में अगले एक सप्ताह तक मैदानी इलाकों में मौसम साफ रहेगा. 28 जनवरी तक मैदानी इलाकों में बारिश की संभावना नहीं हैं. वहीं. 23 जनवरी को प्रदेशभर में मौसम साफ रहने का अनुमान है. वहीं, 24 और 25 जनवरी को सूबे में मध्य पर्वतीय और पहाड़ी इलाकों में बारिश और बर्फबारी की संभावना है. 26 और 27 जनवरी को सूबे भर में मौसम साफ रहेगा. 28 जनवरी को पहाड़ी और मध्यपर्वतीय इलाकों में मौसम फिर करवट लेगा और बारिश और बर्फबारी की संभावना है.

ये भी पढ़ें:हिमाचल में फिर आया एवलांच, सांगला वैली में झरने की तरह गिरा ग्लेशियर

हिमाचल में आवारा पशुओं का आतंक: सांड ने बुजुर्ग पर किया हमला, मौके पर ही मौत

मार्शल आर्ट के लिए छोड़ी CRPF की नौकरी, वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीता कांस्य

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 11:48 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर