EMPLOYMENT: 'यहां उद्योग लगाएंगे तो 80% हिमाचलियों को देना ही होगा रोजगार'

सरकार ने हिमाचल में उद्योग लगाने वाले औद्योगिक घरानों के लिए स्पष्ट किया है कि उन्हें 80 प्रतिशत रोजगार हिमाचलियों को ही देना होगा.

  • Share this:
जयराम सरकार की पहली ग्लोबल इन्वेस्टर मीट को लेकर इन दिनों तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. 7 और 8 नवंबर को होने वाली इन्वेस्टर मीट से पहले उद्योगपतियों के साथ एमओयू का दौर जारी है. वहीं सरकार ने हिमाचल में उद्योग लगाने वाले औद्योगिक घरानों के लिए स्पष्ट किया है कि उन्हें 80 प्रतिशत रोजगार हिमाचलियों को ही देना होगा. इसकी बाकायदा सरकार की ओर से मॉनिटरिंग भी की जाएगी. उद्योगमंत्री बिक्रम सिंह ने इसकी पुष्टि की है.



सीएम जयराम लुधियाना और चंडीगढ़ में भी उद्योगपतियों के साथ बैठक करेंगे



देश-विदेश के दौरे के बाद सीएम जयराम ठाकुर लुधियाना और चंडीगढ़ में भी उद्योगपतियों के साथ बैठक करेंगे.






उद्योगमंत्री विक्रम सिंह ने कहा कि पहली ग्लोबल इन्वेस्टर मीट को सफल बनाने के पूरे प्रयास हो रहे हैं. देश-विदेश के दौरे के बाद सीएम जयराम ठाकुर लुधियाना और चंडीगढ़ में भी उद्योगपतियों के साथ बैठक करेंगे. इसके बाद हिमाचल के उद्योगपतियों के साथ बातचीत की जाएगी, जिन्होंने हिमाचल में पहले ही करोड़ों रूपये इन्वेस्ट किया है. उनकी समस्याओं को भी सरकार जानेगी. अब तक 23 हजार करोड़ रुपये के एमओयू हो चुके हैं, जबकि सरकार ने 85 हजार करोड़ रूपये की निवेश संभावनाएं तलाशी हुई हैं.
विभागों से संबंधित एमओयू की प्रोग्रेस रिपोर्ट देने को कहा है: विक्रम सिंह



विक्रम सिंह ने कहा कि सरकार ने आगामी कैबिनेट बैठक में सभी मंत्रियों को अपने-अपने विभागों से संबंधित एमओयू की प्रोग्रेस रिपोर्ट देने को कहा है, ताकि यह पता चल सके कि जिन लोगों के साथ एमओयू हुए हैं क्या उन्होंने यूनिट लगाने के लिए जमीन ढूंढ ली गई है या फिर औपचारिकताओं की स्टेज क्या है?



यह भी पढ़ें: खतरा: शिमला के हैरिटेज म्यूजियम व रीगल बिल्डिंग की दरकी दीवारें



एचआरटीसी तकनीकी कर्मचारी संगठन ने दी आंदोलन तेज करने की धमकी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज