vidhan sabha election 2017

चुनाव आयोग से अनुमति न मिलने के कारण रुके शिमला के विकास कार्य

ETV Haryana/HP
Updated: December 7, 2017, 6:40 PM IST
चुनाव आयोग से अनुमति न मिलने के कारण रुके शिमला के विकास कार्य
(फाइल फोटो)
ETV Haryana/HP
Updated: December 7, 2017, 6:40 PM IST
शिमला शहर में करीब दो महीने से थप पड़े विकास कार्यों को अब नई सरकार के गठन के बाद ही गति मिलेगी. शिमला नगर निगम ने कई मुख्य कार्यों को करने के लिए चुनाव आयोग से अनुमति मांगी थी, लेकिन अनुमति न मिलने के कारण कई कार्य शुरू नहीं हो पाए हैं.

स्मार्ट सिटी मिशन का काम देखने के लिए कंपनी का निर्माण अब नई सरकार के कार्यकाल में ही हो सकेगा. जानकारी के मुताबिक स्मार्ट सिटी मिशन के तहत कंपनी का निर्माण करने के बाद ही इसमें काम किया जा सकता है. कंपनी के गठन को लेकर चुनाव आयोग से अनुमति नगर निगम प्रशासन को नहीं मिली है.

इस कारण कंपनी के निर्माण में देरी के साथ शहर के स्मार्ट सिटी बनने में भी देरी होना तय माना जा रहा है. सरकार ने स्मार्ट सिटी के लिए कंपनी बनाने की अनुमति मांगने के लिए 21 नवंबर को प्रस्ताव भेजा था जिसपर अभी तक अप्रूवल नहीं मिला है.

डिप्टी मेयर राकेश कुमार ने बताया कि नगर निगम ने कई विकास कार्यों को शुरू करने के लिए चुनाव आयोग से अनुमति मांगी थी जिसमें उसे सफलता नहीं मिली है. उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी मिशन के अलावा नगर निगम प्रशासन को निगम में कई कार्यों को करवाने के लिए टेंडर जारी करने की अनुमति भी नहीं मिली है जिससे शहर में विकास कार्यों की गति पर भी असर पड़ेगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर