लाइव टीवी

घाटे में चल रहे हिमाचल बिजली बोर्ड पर भारी पड़ी बर्फबारी, 18 करोड़ रुपये का नुकसान
Shimla News in Hindi

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 6, 2020, 4:14 PM IST
घाटे में चल रहे हिमाचल बिजली बोर्ड पर भारी पड़ी बर्फबारी, 18 करोड़ रुपये का नुकसान
बर्फबारी से बिजली विभाग को नुकसान पहुंचा.

Loss Due to Snowfall in Himachal: सेंट्रल जोन में 172.49 लाख और नॉर्थ जोन में 625 लाख के नुकसान का आंकलन किया गया है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में इस बार हुई बर्फबारी (Snowfall) से सूबे को खासा नुकसान हुआ है. प्रदेश में सबसे अधिक नुकसान पीडब्ल्यूडी विभाग (PWD) को पहुंचा है. इसके अलावा, आईपीएच (IPH) और बिजली विभाग (Electricity Board) पर भी बर्फबारी की मार पड़ी है.

जानकारी के अनुसार, घाटे में चल रहे बिजली बोर्ड पर बर्फबारी भारी पड़ी है. हाल ही में हुई बर्फबारी से बोर्ड को लगभग 18 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. फिलहाल, बोर्ड के अधिकारी नुकसान के आंकलन में जुटे हुए हैं. हजारों पोल टूटें, सैकड़ों ट्रांसफार्मर और छोटी-बड़ी हजारों लाइनें टूटी हैं. ऐसे में बिजली बोर्ड पर आर्थिक बोझ और बढ़ गया है. हर साल ये देखने में आया है कि मौसम के चलते सर्दियों में परीक्षा लेता है.

2 हजार करोड़ के घाटे में बोर्ड
बता दें कि बोर्ड लगभग 2 हजार करोड़ के घाटे में चल रहा है और कर्ज का बोझ 5 हजार करोड़ को पार कर चुका है. बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि सबसे ज्यादा नुकसान सिरमौर के राजगढ़ में हुआ है. इस क्षेत्र में 800 से ज्यादा पेड़ गिरे हैं, जिससे बिजली के पोल और लाइनों को नुकसान हुआ है. इसके अलावा कुल्लू,मंडी, किन्नौर, लाहौल-स्पिती और चंबा में भी नुकसान हुआ है. साउथ जोन के चीफ इंजीनियर संजीव मड़िया का कहना है कि सिरमौर, शिमला, सोलन और किन्नौर जिले में ही करीब 10 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.

रोड क्नेक्टिविटी न होने के चलते परेशानी
मड़िया का कहना है कि जिन इलाकों में नुकसान हुआ है उन स्थानों पर व्यवस्था को दुरूस्त कर लिया गया है. रोड क्नेक्टिविटी न होने के चलते कुछ स्थानों में विद्युत आपूर्ति सुचारू करने में देरी हुई. उन्होंने कहा कि मौसम के मिजाज को देखते हुए सभी तैयारियां फिर से पूरी कर ली गई है. फील्ड स्टाफ को जरूरी दिशा निर्देश दिए गए हैं.इसके अलावा उपकरण और अन्य सामान भी पहुंचा दिया गया है. अन्य जोन की बात करें तो सेंट्रल जोन में 172.49 लाख और नॉर्थ जोन में 625 लाख के नुकसान का आंकलन किया गया है.

ये भी पढ़ें: नेरचौक मेडिकल क़ॉलेज की तीसरी मंजिल से कूदी महिला मरीज, मौतमीना मर्डर केस: गर्भवती को क्रिकेट बैट से पीटा, फिर घर की दूसरी मंजिल से फेंका

नशे के ओवरडोज से मौत! नाले के पास कमरे में मिला युवक का नग्न शव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 4:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर