Home /News /himachal-pradesh /

पूर्व मंत्री अनिल शर्मा से सरकार ने छीनी सरकारी सुविधाएं, गाड़ी-आवास लिया वापस

पूर्व मंत्री अनिल शर्मा से सरकार ने छीनी सरकारी सुविधाएं, गाड़ी-आवास लिया वापस

लोकसभा चुनाव की वोटिंग के दौरान अनिल शर्मा अपने परिवार के साथ.(File Photo)

लोकसभा चुनाव की वोटिंग के दौरान अनिल शर्मा अपने परिवार के साथ.(File Photo)

अनिल शर्मा को उनके बेटे आश्रय शर्मा के कांग्रेस के टिकट पर मंडी से लोकसभा चुनाव लड़ने के कारण मंत्रीपद से इस्तीफा देना पड़ा था.

    हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार ने मंडी से विधायक अनिल शर्मा को बतौर कैबिनेट मंत्री दी गई सुविधाएं वापस ले ली हैं. राज्य सचिवालय में ऊर्जा मंत्री के नाते उन्हें कमरा नंबर 229 अलॉट किया गया था.

    लोकसभा चुनाव के वक्त उन्होंने कैबिनेट मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद चुनाव संपन्न होते ही अब अनिल शर्मा को अलॉट कमरा कैबिनेट मंत्री डॉ. राजीव सैजल को दे दिया गया है.

    इसके साथ ही शिमला में मिला सरकारी आवास भी वापस लिया गया है और गाड़ी भी वापस ली गई है. हालांकि, आचार संहिता के चलते गाड़ी पहले से ही जीएडी के पास है.क्योंकि इस दौरान सरकारी वाहनों का इस्तेमाल नहीं हो सकता है. गौरतलब है कि अनिल शर्मा को उनके बेटे आश्रय शर्मा के कांग्रेस के टिकट पर मंडी से लोकसभा चुनाव लड़ने के कारण मंत्रीपद से इस्तीफा देना पड़ा था.

    सचिवालय का कमरा दूसरे मंत्री को अलॉट
    जानकारी के मुताबिक, पूर्व मंत्री अनिल शर्मा की फॉर्च्यूनर गाड़ी सरकार ने वापस ले ली है. इसके साथ-साथ प्रदेश सरकार ने सचिवालय में एक मंत्री के बैठने की व्यवस्था में भी व्यापक बदलाव किया है. सचिवालय भवन का कमरा-229 जहां पर पूर्व मंत्री अनिल शर्मा का कार्यालय था, उसे अब सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल को दे दिया है.

    हिमाचल सचिवालय में अनिल शर्मा का कार्यालय अब राजीव सैजल को दिया गया है.


    यहां उनके नाम का फट्टा भी लग चुका है और कर्मचारी कमरे को सजाने एवं रंग रोगन करने में जुटे हैं. प्रदेश सरकार ने अनिल शर्मा से वाहन तो वापस ले लिया, लेकिन मंत्री आवास नहीं ले सकी. नियमों के मुताबिक मंत्री पद छोड़ने के 15 दिन बाद सरकारी आवास खाली करना होता है.

    12 अप्रैल को दिया था मंत्री पद से इस्तीफा

    पूर्व मंत्री अनिल शर्मा ने 12 अप्रैल को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. उनके बेटे को कांग्रेस ने मंडी लोकसभा सीट से प्रत्याशी बनाया है. हालांकि अनिल शर्मा अब भी भाजपा विधायक हैं. उन्होंने भाजपा की सदस्या से इस्तीफा नहीं दिया है.

    ये भी पढ़ें: शिमला: रेप केस में बॉलीवुड एक्टर जितेंद्र पर दर्ज FIR रद्द

    गर्लफ्रेंड की जॉब के एवज में 10 हजार सैलरी का ऑफर, फिर अपहरण

    'राहुल के अच्छे दिन आने वाले हैं, नानी घर जाने वाले हैं'

    Exit Polls को कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह ने कहा-‘नजूमी’

    ये दो नाम, जिनकी बदौलत हिमाचल में कांग्रेस का ‘सूपड़ा साफ’

    सोलन में कार से 25.33 ग्राम चिट्टा बरामद, तीन युवक गिरफ्तार

    Tags: BJP, BJP MLA, Lok Sabha Election 2019, Mandi, Mandi S08p02

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर