हिमाचल में फर्जी डिग्री केस: मानव भारती यूनिवर्सिटी के खिलाफ ED ने दर्ज की FIR

सोलन की मानव भारती यूनिवर्सिटी (FILE PHOTO)
सोलन की मानव भारती यूनिवर्सिटी (FILE PHOTO)

Fake Degree Scam in Himachal: सोलन की मानव भारती और शिमला की एपीजी यूनिवर्सिटी पर पांच लाख फर्जी डिग्रियां बनाने और बेचने के आरोप लगे हैं. इस पूरे मामले का खुलासा न्यूज18 ने किया था और इसके बाद ही जांच शुरू हो पाई थी.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में फर्जी डिग्री मामले (Fake Degree Scam) में फंसे मानव भारती विश्वद्यालय की मुश्किलें और बढ़ गई है. मामले में पैसों के लेन-देन और उससे बनाई गई संपत्तियों की जांच को लेकर हिमाचल पुलिस (Himachal Police) की ओर से लिखे गए पत्र पर कार्रवाई करते हुए प्रवतर्न निदेशालय (ED) ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. मानव भारती यूनिवर्सिटी पर लाखों की संख्या में फर्जी डिग्री बनाने और बेचने का आरोप है.

क्या है आरोप
यूनिवर्सिटी प्रबंधन पर आरोप है कि फर्जी डिग्रियां बेचकर करोड़ों की संपत्ति बनाई गई है. हिमाचल और राजस्थान में काले धन को निवेश कर संपत्ति बनाई गई है. इसको लेकर विधानसभा के मॉनसून सत्र के दौरान सीएम जयराम ठाकुर ने कहा था कि इस मामले की जांच का जिम्मा एडीजी सीआईडी एन वेणुगोपाल की अध्यक्षता वाली 19 सदस्य विशेष जांच टीम को सौंपा जाएगा. जानकारी के अनुसार, डीजीपी संजय कुंडू समय समय पर इस मामले की समीक्षा खुद करेंगे.

क्या बोले डीजीपी
इस मामले में DGP संजय कुंडू का बयान आया है. उन्होंने कहा कि मानव भारती विवि के खिलाफ ईडी ने मामला दर्ज किया है. ईडी ने जांच के लिए हमारी SIT के साथ डिप्टी डायरेक्टर की नियुक्ति की है. ऐसे में इनकम टैक्स विभाग ने भी जांच शुरू की ही है. हर 15 दिन बाद जांच की समीक्षा की जाएगी. इसके अलावा, शिमला की एपीजी विवि के खिलाफ भी जांच चल रही है.



टैक्स विभाग को पत्र
बता दें कि हिमाचल पुलिस ने इनकम टैक्स विभाग को भी जांच के लिए पत्र लिखा है. आशंका है कि कई साल से चल रहे इस खेल में लाखों डिग्रियां बेचकर करीब-करीब 100 करोड़ तक की कमाई की गई है. इस पूरे मामले में सोलन पुलिस ने मानव भारती यूनिवर्सिटी पर पर तीन एफआईआर दर्ज है. एमबीयू का संचालन करने वाले राजकुमार राणा, रजिस्ट्रार अनुपमा, सहायक रजिस्ट्रार मनीष गोयल, डाटा ऑपरेटर प्रमोद कुमार के अलावा विवि के नशा मुक्ति केंद्र के संचालक जतिन नागर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.

दो यूनिवर्सिटी पर आरोप
सोलन की मानव भारती और शिमला की एपीजी यूनिवर्सिटी पर पांच लाख फर्जी डिग्रियां बनाने और बेचने के आरोप लगे हैं. इन दोनों विवि के खिलाफ यूजीसी ने हिमाचल सरकार को पत्र लिखा था. इस पूरे मामले का खुलासा न्यूज18 ने किया था और इसके बाद ही जांच शुरू हो पाई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज