IGMC की कार्यप्रणाली पर सवाल: 3 दिन पोस्टमार्टम के लिए इंतजार करते रहे परिजन

शिमला का आईजीएमसी अस्पताल.
शिमला का आईजीएमसी अस्पताल.

इस पूरे मामले पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि अभी उन्हें इस मामले की जानकारी मिली है,क्यों पोस्टमार्टम नहीं किया गया है. इसका पूरा पता लगाने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा.

  • Share this:
शिमला. सड़क हादसे (Road Accident) में मारे गए शख्स के शव (Dead Body) का तीन दिन से पोस्टमार्टम नहीं किया गया है. इस पर युवक के इलाके के विधायक (MLA) ने सवाल उठाए हैं. मामला हिमाचल (Himachal Pradesh) के बिलासपुर जिले से जुड़ा है. अब कांग्रेस विधायक राम लाल (Ram Lal) ने आईजीएमसी प्रबंधन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं.

जानकारी के अनुसार, बिलासपुर में तीन दिन पहले हुए सड़क हादसे में मारे गए चालक के शव का अभी तक पोस्टमार्टम नहीं किया गया है. दो दिन से शव आईजीएमसी की शवगृह में है, लेकिन पोस्टमार्टम कब होगा किसी को कुछ जानकारी नहीं है. परिजन भी शव का इंतजार  करते रहे. बाद में सोमवार शाम को पोर्स्टमार्टम किया गया और शव का परिजनों ने अंतिम संस्कार किया.

राम लाल ने जताया ऐतराज



इसी बीच आईजीएमसी प्रशासन के रवैये पर कांग्रेस विधायक रामलाल ठाकुर ने कड़ा ऐतराज जताया है. उन्होंने कहा कि दो होने के बावजूद भी शव का पोस्टमार्टम न होना चिंता का विषय है. दरअसल, बिलासपुर जिला के चुनी लाल निवासी घेरटा का चार पहिया वाहन सोलधा नामक जगह पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इस वाहन में कुछ महिलाएं शादी को जा रही थीं. वो महिलाएं भी हादसे का शिकार हुईं. हालांकि, अस्पताल लाते वक्त चुनी लाल मौत हो गई। जिसके बाद चुनी लाल का शव आईजीएमसी में रखा गया. कांग्रेस विधायक ने कहा कि पोस्टमार्टम में देरी करना निंदाजनक है. ऐसे में आईजीएमसी प्रशासन को तुरंत कदम उठाने चाहिए.
स्वास्थ्य मंत्री तक पहुंचा मामला

इस पूरे मामले पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि अभी उन्हें इस मामले की जानकारी मिली है,क्यों पोस्टमार्टम नहीं किया गया है. इसका पूरा पता लगाने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज