Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    फेस्टिवल स्पेशल: 7 माह बाद कालका-शिमला रेलवे ट्रैक पर आज से फिर दौड़ेगी ट्रेन

    शिमला रेलवे स्टेशन. (सांकेतिक तस्वीर)
    शिमला रेलवे स्टेशन. (सांकेतिक तस्वीर)

    Festival Special Train to Shimla: इससे पहले, 15 अक्टूबर से रेलवे विभाग को इस ट्रैक पर स्पेशल ट्रेन चलाने का प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते ट्रेन चलने को मंजूरी नहीं मिल पाई थी.

    • Share this:
    शिमला. हिमाचल प्रदेश में कोरोना के चलते कालका-शिमला हैरिटेज ट्रैक (Kalka-Shimla) पर करीब 7 महीनों से कोई भी ट्रेन (Train) सेवा नहीं चलाई गई है, जिसके चलते शिमला आने वाले सैलानियों को सड़क मार्ग का सहारा लेना पड़ रहा था. सैलानी ट्रेन के सफर को काफी मिस कर रहे हैं, जहां उन्हें प्राकृतिक सुंदरता के बीच शिमला (Shimla) पहुंचना काफी उत्साह भरा लगता था. करीब 7 महीनों के अंतराल के बाद इस ऐतिहासिक ट्रैक पर फेस्टिवल स्पेशल (Festival Special) ट्रेन चलाई जाएगी. 20 अक्टूबर से चलने वाली ट्रेन को 30 नवंबर तक चलाए जाएगा, लेकिन इस ट्रेन को पूरी तरह से रिजर्व पैटर्न पर संचालित किया जाएगा. इस ट्रेन में सफर करने के लिए ऑनलाइन (Online) ही बुकिंग होगी. रेलवे विभाग की साइट पर ही इस ट्रेन के टिकट उपलब्ध होंगे.

    क्या रहेगा शेड्यूल

    20 अक्टूबर को यह फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन कालका से दोपहर 12 बज कर 10 मिनीट पर चलेगी. जो कि शाम 5 बजकर 20 मिनट शिमला पहुंचेगी. 21 अक्टूबर को शिमला से यह ट्रेन सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर चलेगी. इस ट्रेन में सफर के लिए रेलवे विभाग की साइट से ही बुकिंग की जा सकेगी. जो भी यात्री इस ट्रेन से शिमला आना चाहते हैं, उन्हें अपना टिकट साथ लाना अनिवार्य होगा. ट्रेन चलने के करीब आधा घंटा पहले स्टेशन पर पहुंचना होगा, ताकि बिना किसी असुविधा के वह अपनी सीट ढूंढ सके.



    सैलानियों को परेशानी
    इस ट्रेन में 7 कोच लगाए जाएंगे, जिनमें से पहले दो कोच फर्स्ट क्लास होंगे और इसमें 36 सीट्स हैं. इसके अलावा, 36 सीट्स सेकण्ड क्लास में भी होगी. इस विशेष ट्रेन का समय हिमालयन व्यू के साथ ही रखा गया है. ट्रेन के जरिये शिमला पहुंचने वाले लोगों में ज़्यादातर पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात औऱ राजस्थान के सैलानी होते हैं. रेल सुविधा शुरू न होने के चलते अधिकतर सैलानी यहां का रुख नहीं कर पा रहे है.

    पहले रद्द करना पड़ा था प्रस्ताव

    इससे पहले, 15 अक्टूबर से रेलवे विभाग को इस ट्रैक पर स्पेशल ट्रेन चलाने का प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते ट्रेन चलने को मंजूरी नहीं मिल पाई थी. ऐसे में अगर किसान आंदोलन 20 अक्टूबर तक नहीं थमता है और आगे भी जारी रहेगा तो यह फेस्टिवल ट्रेन का चलना भी मुश्किल होगा. इस ट्रेन को रेलवे मुख्यालय से मंज़ूरी मिल चुकी है, इसका चलना न चलना, अब पूरी तरह से किसान आंदोलन पर ही निर्भर करता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज