अपना शहर चुनें

States

चीन से शिमला लौटे 15 लोग, स्वास्थ्य विभाग ने पासपोर्ट कार्यालय से मांगी जानकारी

15 जनवरी के बाद चीन से शिमला लौटे 15 लोगों की पहचान कर रहा स्वास्थ्य विभाग
15 जनवरी के बाद चीन से शिमला लौटे 15 लोगों की पहचान कर रहा स्वास्थ्य विभाग

मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि 15 जनवरी के बाद चीन (China) से शिमला (Shimla) 15 लोग लौटे हैं. इनमें से कुछ लोग चीन घूमने गए थे, जबकि कुछ लोग चीन में पढ़ाई करते हैं. इन लोगों के बारे में पासपोर्ट ऑफिस (Passport office) से जानकारी मांगी गई है ताकि सभी की जांच की जा सके.

  • Share this:
शिमला. चीन से फैले कोरोना वायरस (Corona Virus) का खौफ धीरे धीरे हिमाचल में बढ़ता जा रहा है. प्रदेश में वायरस का कहर न पनपे इसके लिए स्वास्थ्य विभाग सतर्क है. चीन (China) से हिमाचल लौटे 145 लोगों की निगरानी के लिए पहले ही सरकार ने पुख्ता प्रबंध किए हैं. इनमें से अभी तक किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस से पीड़ित होने के लक्षण नहीं पाए गए हैं. इन 145 लोगों में शिमला (Shimla) शहर के भी 15 लोग चीन से शिमला लौटे हैं. इनकी निगरानी के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग (District health department) ने टीमें गठित कर दी है.

28 दिनों तक रखी जाएगी नजर

इस बारे में मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जितेंद्र चौहान ने बताया कि 15 जनवरी के बाद चीन से शिमला 15 लोग लौटे हैं, जिनकी पहचान की जा रही है. उन्होंने बताया कि इनमें से कुछ लोग चीन घूमने गए थे, जबकि कुछ लोग चीन में पढ़ाई करते हैं. उन्होंने बताया कि इन लोगों के बारे में पासपोर्ट विभाग से
जानकारी मांगी गई है ताकि सभी की जांच की जा सके. डॉ. जितेंद्र ने कहा कि संबंधित नजदीकी स्वास्थ्य फार्मासिस्ट को इन सभी लोगों की पहचान करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं और आगामी 28 दिनों तक इनकी निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं.
मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जितेंद्र चौहान ने कहा कि आजकल एच-1-एन-1 (H1N1) से संबंधित वायरस का भी प्रकोप है. ऐसे में मरीज अपनी जांच कराने नजदीकी अस्पताल में आएं ताकि वायरस को रोका जा सके.




H1N1 का भी है प्रकोप, मरीज जांच कराने नजदीकी अस्पताल में जाएं

इसके आलावा जिला में ग्रामीण स्तर पर भी आशा वर्करों और आंगनबाड़ी सहायिकाओं को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं और किसी तरह के वायरस होने की सूचना टोल फ्री नम्बर 104 पर देने को कहा गया है. डॉ. जितेंद्र ने कहा कि आजकल एच-1-एन-1 (H1N1) से संबंधित वायरस का भी प्रकोप है. ऐसे में मरीज अपनी जांच कराने नजदीकी अस्पताल में आएं ताकि वायरस को रोका जा सके.

ये भी पढ़ें - 8 घंटे 18 किमी: महिलाओं ने गर्भवती को कंधों पर उठाकर पहुंचाया अस्पताल

ये भी पढ़ें - लोकसभा में सांसद ने उठाया गिरिपार को जनजातीय क्षेत्र घोषित करने का मुद्दा

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज