COVID-19: जमात से शिमला के नेरवा लौटने वाले 11 लोग क्वारंटाइन सेंटर भेजे, FIR
Shimla News in Hindi

COVID-19: जमात से शिमला के नेरवा लौटने वाले 11 लोग क्वारंटाइन सेंटर भेजे, FIR
हिमाचल में कोरोना वायरस. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona Virus in Himachal: चौपाल के डीएसपी वरुण पटियाल ने बताया कि सभी लोगों की स्वास्थ्य जांच करवाने के बाद उन्हें नेरवा में बनाये गए क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया है. प्रारंभिक जांच में किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं.

  • Share this:
चौपाल (शिमला). हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के शिमला (Shimla) जिले के चौपाल 11 लोगों के खिलाफ पुलिस (Police) ने मामला दर्ज किया है. ये सभी सिरमौर (Simour) जिले में पावंटा साहिब से 40 दिन की जमात के बाद घर लौटे थे.
जानकारी के अनुसार, जमराडी बैरियर पर पिकअप गाडी को पुलिस ने डिटेन किया और इसमें समुदाय विशेष के 11 लोग सवार थे. ये सभी लोग थाना नेरवा क्षेत्र की ग्राम पंचायत कैदी और ग्राम पंचायत भराणू के रहने वाले बताये जा रहे हैं. पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि ये लोग 40 दिन की जमात के बाद पांवटा साहिब से घर लौट रहे थे.

बैरियर पर मौजूद पुलिस ने दी जानकारी
जमराड़ी बेरीयर के इंचार्ज ने डीएसपी चौपाल को मामले की जानकारी दी. इसके बाद डीएसपी चौपाल ने मौके पर पहुंच कर सभी से पूछताछ की और बाद में नेरवा अस्पताल में उनकी स्वास्थ्य जांच करवाई गई. मेडिकल एग्जामिनेशन के बाद सभी लोगों को राजकीय महाविद्यालय नेरवा में क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है. उपरोक्त सभी लोगों के विरुद्ध कर्फ्यू के चलते सरकार के आदेशों की अवेहलना करने पर आईपीसी की विभिन्न घाराओं के तहत केस भी दर्ज किया गया है और इनके द्वारा प्रयोग किया वाहन भी पुलिस ने जब्त कर लिया है.



कुछ और लोग भी गए हैं
इनमें नौ लोग गांव किमाचंदरावली के रहने वाले हैं, जबकि 2 लोग भराणू गाँव से हैं. जानकारी के मुताबिक, इन लोगों के साथ कुछ और लोग भी जमात के लिए नेरवा से पांवटा साहिब गए हैं, जो फिलहाल घर नहीं लौटे हैं.



प्रारंभिक जांच में लक्षण नहीं: डीएसपी
चौपाल के डीएसपी वरुण पटियाल ने बताया कि सभी लोगों की स्वास्थ्य जांच करवाने के बाद उन्हें नेरवा में बनाये गए क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया है. प्रारंभिक जांच में किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं. एक पिक अप गाड़ी को भी जब्त किया गया है और सभी लोगों के खिलाफ नियमानुसार आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करके जांच की जा रही है.

ये भी पढ़ें: ‘लठ तो बजेगा लेकिन कोरोना नहीं होगा’ Video पर सस्पेंड हेडकांस्टेबल मनोज बहाल

COVID-19: बीमार भतीजी को लाने गए युवक को पुलिस ने पीटा, पैर में फ्रैक्चर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading