हिमाचल में स्वाइन फ्लू से पहली मौत, 6 माह के बच्चे ने PGI में तोड़ा दम
Shimla News in Hindi

हिमाचल में स्वाइन फ्लू से पहली मौत, 6 माह के बच्चे ने PGI में तोड़ा दम
हिमाचल में स्वाइन फ्लू से पहली मौत.

हिमाचल स्वास्थ्य विभाग के स्टेट सर्विलांस ऑफिसर डॉ. सोनम नेगी ने बच्चे की मौत की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि पीजीआई चंडीगढ़ में बच्चे की मौत हुई है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में स्वाइन फ्लू (Swine Flu) से पहली डेथ रिपोर्ट हुई है. छह माह के बच्चे ने दम तोड़ा है. बच्चे का पीजीआई चंडीगढ़ (PGI Mandi) में इलाज चल रहा था, जहां उसने दम तोड़ दिया. सूबे में अब तक 8 लोगों को स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है. स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने भी मौत की पुष्टि की है.

पहले निजी अस्पताल में इलाज करवाया
जानकारी के अनुसार, शिमला के रोहड़ू के छह माह के बच्चे के परिजन उसे चंडीगढ़ में निजी चैतन्य अस्पताल में इलाज के लिए ले गए थे. इस दौरान जब बच्चे की सेहत में सुधार नहीं हुआ था तो परिजन उसे पीजीआई ले गए. यहां 10 फरवरी को बच्चे की मौत हो गई.

घर के आसपास भी पड़ताल की



हिमाचल स्वास्थ्य विभाग के स्टेट सर्विलांस ऑफिसर डॉ. सोनम नेगी ने बच्चे की मौत की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि पीजीआई चंडीगढ़ में बच्चे की मौत हुई है. उन्होंने बताया कि उन्हें मामले की जानकारी मिल गई थी. बच्चे के घर के आसपास जाकर भी स्वास्थ्य विभाग ने पड़ताल की है. वहां फिलहाल, स्वाइन फ्लू का कोई मामला नहीं हैं.



आईजीएमसी में पांच मामले
इससे पहले, शिमला के इंदिरा गांधी मेडिकल क़ॉलेज और अस्पताल (IGMC) में दो बच्चों को स्वाइन फ्लू होने की बात सामने आई थी. बीते मंगलवार को इन दोनों बच्चों को खांसी और बुखार के चलते अस्पताल लाया गया था. यहां जांच के बाद इनमें स्वाइन फ्लू (Swine Flu) के लक्षण पाए गए हैं. बुधवार रात को इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है. शिमला के चौपाल के एक साल और चार साल के बच्चे को खांसी और जुखाम की शिकायत थी. इससे पहले, 3 फरवरी को आईजीएमसी के ही एक डॉक्टर (Doctor) को स्वाइन फ्लू होने की बात सामने आई थी.

सूबे में अब तक आठ मामले
हिमाचल प्रदेश में स्वाइन फ्लू के 8 मामले सामने आ चुके हैं. शिमला में 6, मंडी से एक और कांगड़ा से एक केस रिपोर्ट हुआ है. इस साल 98 संदिग्ध लोगों की स्वाइन फ्लू की जांच की जा चुकी है. हिमाचल स्वास्थ्य विभाग ने यह आंकड़े जारी किए हैं.

हिमाचल में स्वाइन फ्लू के पांच मामले सामने आए हैं.

बीते साल गई थी 41 लोगों की जान
साल 2019 में हिमाचल में स्वाइन फ्लू ने 41 लोगों की जान ली थी. इससे पहले, 2017 में स्वाइन फ्लू ने 27 लोगों को अपना ग्रास बनाया था. स्वाइन फ्लू की शुरूआत खांसी-जुकाम से ही होती है. बीमारी में शरीर में थकान, ठंड लगना, सिर दर्द होना इसके लक्षण हैं. स्वाइन फ्लू एक तीव्र संक्रामक रोग है, जो एक विशिष्ट प्रकार के एंफ्लुएंजा वायरस से होता है. इससे प्रभावित व्यक्ति को अस्पताल जाकर अपना इलाज करवाना चाहिए. स्वास्थ्य विभाग की ओर से स्वाइन फ्लू का इलाज मुफ्त किया जाता है और फ्री में ही दवाएं दी जाती हैं.

ये भी पढ़ें: 8 घंटे 18 किमी: महिलाओं ने गर्भवती को कंधों पर उठाकर पहुंचाया अस्पताल

हिमाचल की जयराम कैबिनेट की बैठक आज, इन एजेंडों पर होगी चर्चा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading