लाइव टीवी

हिमाचल उपचुनाव: 55 साल में पहली बार प्रचार नहीं कर रहे पूर्व CM वीरभद्र सिंह!

G.S. Tomar | News18 Himachal Pradesh
Updated: October 17, 2019, 1:46 PM IST
हिमाचल उपचुनाव: 55 साल में पहली बार प्रचार नहीं कर रहे पूर्व CM वीरभद्र सिंह!
कांग्रेस के दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह. (File Photo)

By-Election in Himachal: वीरभद्र सिंह ने अपना पहला चुनाव साल 1962 में पहला चुनाव लड़ा था. वह 25 साल की उम्र में सांसद चुने गए थे. इसके अलावा, 1967, 1971 और 1980 और साल 2009 में सांसद चुए गए.

  • Share this:
शिमला. 55 साल के लम्बे राजनीतिक जीवन में यह पहला मौका है, जब कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह (Ex CM Virbhada Singh) चुनाव प्रचार में अपना जलवा नहीं दिखा सके हैं. उनके बिना ही इस बार हिमाचल के दो सीटों धर्मशाला (Dharamshala) और पच्छाद में हो रहे उपचुनाव (‌By Election in Himachal) में कांग्रेस पार्टी उतरी है.

वीरभद्र सिंह के चुनावी प्रचार (Election Campaign) में ना उतरने के पीछे का कारण है उनकी सेहत, जो कि इन दिनों नासाज़ चल रही है. इस दौरान वह 22 दिन तक चंडीगढ़ पीजीआई (Chandigarh PGI) में भर्ती रहे. अब आजकल वह शिमला में घर पर आराम कर रहे हैं. 85 साल के वीरभद्र सिंह का प्रदेश की राजनीति में पक्ष-विपक्ष लोहा मानता है.

पार्टी को खल रही कमी
वीरभद्र सिंह छह बार हिमाचल के सीएम रहे हैं. इसके अलावा, वह केंद्र में मंत्री और सांसद भी चुने गए थे. अब प्रचार में न जाने से जहां कांग्रेस पार्टी को भी कमी खल रही है, वहीं वीरभद्र सिंह के समर्थकों में उत्साह की कमी से इंकार नहीं किया जा सकता. हिमाचल की राजनीति में एक खास मुकाम रखने वाले वीरभद्र सिंह के नेतृत्व के बिना प्रदेश कांग्रेस पार्टी पहली बार उप-चुनाव प्रचार में उतरी है.

 वीरभद्र सिंह छह बार हिमाचल के सीएम रहे हैं. (FILE Photo)
वीरभद्र सिंह छह बार हिमाचल के सीएम रहे हैं. (FILE Photo)


लोकसभा चुनाव में प्रचार किया था
हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव 2019 में भी कांग्रेस हाईकमान ने वीरभद्र सिंह के हाथों में प्रचार का जिम्मा सौंपा था. पार्टी हाईकमान की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) ने प्रदेश में ताबड़तोड़ जनसभाएं की और प्रत्याशियों को जीतने में पूरी ताकत झौकी थी. हालांकि, हिमाचल की चारों सीटों पर कांग्रेस की हार हुई थी.
Loading...

1962 में लड़ा था पहला चुनाव
वीरभद्र सिंह ने अपना पहला चुनाव साल 1962 में पहला चुनाव लड़ा था. वह 25 साल की उम्र में सांसद चुने गए थे. इसके अलावा, 1967, 1971 और 1980 और साल 2009 में सांसद चुए गए. 1983 में पहली बार वह हिमाचल की राजनीति में उतरे और चुनाव लड़ा. वह नौ बार विधायक और पांच बार सांसद रहे हैं. उन्हें छह बार हिमाचल के सीएम बनने का गौरव हासिल है.

ये भी पढ़ें: दूसरी राजधानी धर्मशाला के मुद्दे पर शांता के बयान पर कांग्रेस का पलटवार

VIDEO: पच्छाद का सियासी पारा चढ़ा, BJP सांसद पर 5-5 हजार रुपये बांटने के आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 1:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...