COVID-19: हिमाचल में 18+ के लिए वैक्सीन खत्म, अब BBN में बनेगी कोवैक्सीन

देश में वैक्सिनेशन में तेजी लाने की जरूरत है. (सांकेतिक तस्वीर)

देश में वैक्सिनेशन में तेजी लाने की जरूरत है. (सांकेतिक तस्वीर)

हिमाचल प्रदेश के औद्योगिक क्षेत्र बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ में इसी महीने कोवैक्सीन का उत्पादन शुरू हो जाएगा. हिमाचल ड्रग मेनुफेक्चरर एसोसिएशन के मुख्य सलाहकार सतीश सिंगला ने पुष्टि करते हुए कहा कि बीबीएन की पनेशिया बायोटेक कंपनी ने कोवैक्सीन के साथ करार कर लिया है

  • Share this:

शिमला. हिमाचल में 18 से 44 साल के आयु वर्ग के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन (Corona Virus) लगभग खत्म हो गई है. वैक्सीन की किल्लत से हिमाचल (Himachal Pradesh) जूझ रहा है, लेकिन 45 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लिए अभी वैक्सीन की काफी डोज बची हुई है. इस बीच हिमाचल के लिए बड़ी राहत की खबर है. अब हिमाचल में इसी जून (June) महीने में कोवैक्सीन का उत्पादन शुरू हो जाएगा.

मात्र 45 सौ डोज बचे हैं.

देश के अन्य राज्यों की तरह हिमाचल में भी कोरोना वैक्सीन की भारी किल्लत है. नेशनल हेल्थ मिशन के डिप्टी डायरेक्टर डॉ.गोपाल बेरी के अनुसार, 18 प्लस के लिए मात्र वैक्सीन की मात्र 4500 डोज ही बची हैं, जबकि सभी आयु वर्ग के लिए कोविशील्ड की 2.95 लाख से ज्यादा डोज बची हुई हैं. इस बाबत मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का कहना है कि 18 प्लस के लिए कंपनी से 1 लाख 77 हजार डोज मांगी गई हैं, जो जून माह के बाद उपलब्ध हो पाएंगी. सीएम ने कहा कि 45 प्लस वालों के लिए फिलहाल वैक्सीन की कमी नहीं है.

राहत की भी खबर
इस बीच हिमाचल के लिए राहत की बड़ी खबर है. हिमाचल प्रदेश के औद्योगिक क्षेत्र बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ में इसी महीने कोवैक्सीन का उत्पादन शुरू हो जाएगा. हिमाचल ड्रग मेनुफेक्चरर एसोसिएशन के मुख्य सलाहकार सतीश सिंगला ने पुष्टि करते हुए कहा कि बीबीएन की पनेशिया बायोटेक कंपनी ने कोवैक्सीन के साथ करार कर लिया है और जल्द ही उत्पादन शुरू हो जाएगा. कितनी वैक्सीन का उत्पादन हर रोज किया जाएगा, इस संबंध में जल्द ही सरकार को जानकारी दी जाएगी. उन्होंने कहा कि ये बड़ी उपलब्धी है, जो सरकार के दिशा निर्देशों और ड्रग डिपार्टमेंट की मेहनत से हासिल हुई है. इस बाबत बीबीएनआईए के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात भी की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज