हिमाचल अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ में वर्चस्व की जंग पहुंची थाने, दर्ज हुई FIR

News18 Himachal Pradesh
Updated: September 5, 2019, 1:28 PM IST
हिमाचल अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ में वर्चस्व की जंग पहुंची थाने, दर्ज हुई FIR
एस एस जोगटा, कर्मचारी महासंघ के नेता

हिमाचल प्रदेश में अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ में वर्चस्व को लेकर कर्मचारी गुटों की जंग थाने पहुंच गई है. जोगटा गुट के नेता एस एस जोगटा ने दूसरे गुट के नेता विनोद कुमार के खिलाफ छोटा शिमला थाने में एफआईआर दर्ज करवा दी है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में कर्मचारियों के सबसे बड़े संगठन अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (Himachal Non Gazetted Employees Federation) में वर्चस्व (supremacy) को लेकर की कर्मचारी यूनियन Employees Unions) के गुटों (Factions) की जंग थाने तक पहुंच गई है. अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के जोगटा गुट ने अपने समानान्तर संगठन के अध्यक्ष विनोद कुमार के खिलाफ छोटा शिमला थाने में शिकायत दर्ज कराई है. विनोद कुमार ने भी एफआईआर (FIR) दर्ज कराने की धमकी दी है. महासंघ के दो धड़े जोगटा गुट और विनोद कुमार गुट आपस में भिड़ पड़े हैं. जोगटा अब रिटायर हो चुके हैं लेकिन पूर्व सरकार में जोगटा के नेतृत्व में चल रहे अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ को सरकार (Government) से मान्यता थी.

विनोद कुमार गुट ने जोगटा गुट से पूर्व कार्यकाल का मांगा लेखा-जोखा

अब किसी भी गुट को मान्यता नहीं मिली है. इसे देखते हुए विनोद कुमार गुट ने जोगटा गुट से पूर्व कार्यकाल का लेखा-जोखा मांगा है. विनोद कुमार ने कहा कि कई बार जोगटा गुट की कार्यकारिणी को उनके संघ की ओर से नोटिस दिए गए लेकिन अभी तक उनका जवाब नहीं आया है. ऐसा नहीं हुआ तो वे खुद ही जोगटा के खिलाफ 15 सितंबर को एफआईआर दर्ज कराएंगे.

अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष विनोद कुमार ने जोगटा गुट पर लगाया चंदे के पैसे में घपले का आरोप


एस एस जोगटा ने विनोद कुमार के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर 

विनोद कुमार की एफआईआर से पहले ही एस एस जोगटा ने छोटा शिमला थाने में विनोद कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी. इसमें आरोप लगाया गया है कि विनोद कुमार स्वयंभू नेता हैं और वे उनके बदनाम कर रहे हैं. अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के पूर्व अध्यक्ष एस एस जोगटा ने कहा कि मैं विनोद कुमार को जानता भी नहीं हूं. जो संगठन संवैधानिक तरीके से जीतकर आएगा उसे ही हिसाब-किताब दिया जाएगा. इससे पहले विनोद कुमार परिसंघ के अध्यक्ष थे, वे उस वक्त जो भी चंदे लिए हैं उसका हिसाब-किताब दें.

(रिपोर्ट- प्रदीप)
Loading...

ये भी पढ़ें- भत्ता मामला: मंत्री-विधायकों के लिए मांगी भीख, CM रिलीफ फंड में जमा होगा पैसा

गुंडागर्दी का वायरल VIDEO: नालागढ़ में दुकानदार भाईयों पर हमला, शेड तोड़ा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 1:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...