हिमाचल कांग्रेस के 6 नेताओं का ऐलान-87 साल के बुजुर्ग वीरभद्र सिंह होंगे 2022 विस चुनाव में चेहरा

कांग्रेस विधायक नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri), वरिष्ठ विधायक आशा कुमारी, पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर, पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा, विधायक विक्रमादित्य सिंह और पूर्व विधायक सुभाष मंगलेट एक साथ नजर आए

कांग्रेस विधायक नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri), वरिष्ठ विधायक आशा कुमारी, पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर, पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा, विधायक विक्रमादित्य सिंह और पूर्व विधायक सुभाष मंगलेट एक साथ नजर आए

Himachal Congress Press Conference: कांग्रेस में कई गुट विधानसभा चुनाव को लेकर सक्रिय हुए हैं. मुख्यत पार्टी में तीन धड़े हैं. एक धड़ा वीरभद्र सिंह का है, जिसमें सुधीर शर्मा, मुकेश अग्निहोत्री जैसे नेता शामिल हैं. दूसरे जीएस बाली का गुट है. बाली पूर्व सरकार में मंत्री रहे थे और कांगड़ा से आते हैं.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस (Congress) की गुटबाजी किसी से छिपी नहीं है. हाल ही में हुए पोस्टर विवाद से एक बार फिर से गुटबाजी का जिन्न सामने आया. नेताओं के सियासी बयान और सोशल मीडिया (Social Media) पर डाली जा रही पोस्ट अपने आप में कहानी बयां कर रही है. इस बीच राजधानी शिमला में 6 नेताओं के एक साथ एक मंच पर आने और मंत्रणा करने से पार्टी में बड़ी हलचल पैदा हो गई है. कांग्रेस विधायक नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri), वरिष्ठ विधायक आशा कुमारी, पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर, पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा, विधायक विक्रमादित्य सिंह और पूर्व विधायक सुभाष मंगलेट एक साथ नजर आए और पार्टी कार्यालय से दूर विधानसभा में प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

वीरभद्र सिंह होंगे सीएम उम्मीदवार

कांग्रेस के इन नेताओं ने एकसाथ ही खुला एलान कर दिया कि 2022 के विधानसभा चुनावों में 6 बार सीएम रहे कद्दावर नेता वीरभद्र सिंह ही पार्टी का चेहरा होंगे. उन्हीं के नेतृत्व में पार्टी चुनाव लड़ेगी. बताया जा रहा है कि कुछ समय पूर्व तक नेता प्रतिपक्ष और सुधीर शर्मा के संबंध नहीं थे और कौल सिंह ठाकुर के वीरभद्र सिंह के साथ रहे सियासी संबंध किसी से छिपे नहीं है. ऐसे में विधानसभा चुनावों के एक साल पहले एक मंच पर आने से सियासी हलके में नईं चर्चा छेड़ दी है. पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष के साथ न होने के सवाल को कौल सिंह ठाकुर ने अपनी वाकपटुता से टाल दिया और गुटबाजी के सवाल पर कहा कि भाजपा में गुटबाजी है. सीएम और अनुराग का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां पर गुटबाजी साफ तौर पर झलकती है. कांग्रेस में गुटबाजी नहीं है.

कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने यह तस्वीर सांझा की है.

कांग्रेस में कितने गुट

कांग्रेस में कई गुट विधानसभा चुनाव को लेकर सक्रिय हुए हैं. मुख्यत पार्टी में तीन धड़े हैं. एक धड़ा वीरभद्र सिंह का है, जिसमें सुधीर शर्मा, मुकेश अग्निहोत्री जैसे नेता शामिल हैं. दूसरे जीएस बाली का गुट है. बाली पूर्व सरकार में मंत्री रहे थे और कांगड़ा से आते हैं. वहीं, हिमाचल कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष रहे सुखविंद्र सुक्खू की गुटबाजी और वीरभद्र सिंह से तनातनी जगजाहिर है. हैरानी की बात है यह है कि मंडी से और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर इस बार वीरभद्र सिंह के गुट साथ नजर आए, जबकि वह वीरभद्र सिंह के विरोधी माने जाते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज