800 करोड़ का प्रोजेक्ट मंजूर: फ्रांस की मदद से आपदा से लड़ेगा हिमाचल

हिमाचल के सभी 12 जिलों में संभावित भूकंप को लेकर पांचवीं बड़ी मैगा मॉक ड्रिल की गई. भूकंप को लेकर निर्मित की गई परिस्थिति के तहत मंडी जिला का सुंदरनगर में 8 रिएक्टर स्केल का भूकंप आया है और यही भूकंप का केंद्र बिंदू भी रहा.

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 11, 2019, 4:02 PM IST
800 करोड़ का प्रोजेक्ट मंजूर: फ्रांस की मदद से आपदा से लड़ेगा हिमाचल
शिमला में आपदा को लेकर मॉक ड्रिल की गई है.
Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 11, 2019, 4:02 PM IST
हिमाचल में आपदा से निपटने के लिए फ्रांस आधारभूत ढांचा विकसित होगा. प्रदेश सरकार की पहल पर फ्रांस के एएफडी बैंक ने 800 करोड़ के प्रोजेक्ट को सैद्धांतिक मंजूरी दी है. प्रदेश सरकार को इस विषय में आज सूचित किया गया. प्रधान सचिव आपदा प्रबंधन ओंकार शर्मा ने इसकी पुष्टि की है. अब प्रदेश सरकार डीपीआर तैयार करके भारत सरकार के माध्यम से एएफडी बैंक को भेजेगी.

इस प्रोजेक्ट के तहत शिमला में स्टेट लेबल एमरजेंसी सेंटर और जिला स्तर भी ऐसे की केंद्र स्थापित किए जाएंगे. स्टेट लेबल एमरजेंसी सेंटर में एक ही छत के नीचे आईएमडी और सेटेलाइट की फीड मिलती रहेगी. इसके अलावा जो जरूरी सुविधाएं होंगी, उन्हें भी विकसित किया जाएगा.

विश्व बैंक ने किया खारिज
प्रदेश सरकार ने पहले यह प्रोजेक्ट विश्व बैंक को मदद के लिए भेजा था, लेकिन विश्व बैंक ने इसे मंजूर नहीं किया है. गौरतलब है कि हिमाचल भूकंप संभावित जोन 5 में आता है. 1905 में कांगड़ा जिला में आए भूकंप में 20 हजार लोगों की मौत हो गई थी. प्रधान सचिव ओंकार शर्मा ने कहा कि एक स्टडी के मुताबिक अगर उसी तरह का भूकंप हिमाचल में आता है तो 1 लाख 60 हजार लोगों के मरने की संभावना है. जिसे देखते हुए ऐसे प्रयासों की जरूरत है ताकि कम से कम नुकसान हो सके.

प्रदेश भर में मॉक ड्रिल
हिमाचल के सभी 12 जिलों में संभावित भूकंप को लेकर पांचवीं बड़ी मैगा मॉक ड्रिल की गई. भूकंप को लेकर निर्मित की गई परिस्थिति के तहत मंडी जिला का सुंदरनगर में 8 रिएक्टर स्केल का भूकंप आया है और यही भूकंप का केंद्र बिंदू भी रहा. इसके अलावा राज्य सचिवालय शिमला में भी भूकंप को लेकर मॉक ड्रिल की गई. भूकंप का अलार्म बजते ही 10 मिनट में राज्य सचिवालय खाली हो गया था और सभी कर्मचारी सचिवालय से बाहर निकल आए थे. इसके बाद अग्निशमन, आईटीबीपी के जवान भी यहां पहुंचे. राहत एवं बचाव कार्य की रिहर्सल की गई. पूरे प्रदेश में हुए मॉक ड्रिल को लेकर प्रधान सचिव आपदा प्रबंधन ओंकार शर्मा ने सफल करार दिया है.

ये भी पढ़े: हिमाचल: फिल्मी अंदाज में वृद्ध दंपति से लूटे 1.20 लाख रुपये
Loading...

हिमाचल में येलो अलर्ट: 8 जिलों में भारी बारिश की संभावना

हिमाचल के कुल्लू में कार हादसा, 2 लोगों की मौत, 2 घायल

पहाड़ के गांधी की जयंती! स्‍मारक की घोषणा फाइलों में दफन

800 करोड़ का प्रोजेक्ट: आपदा प्रबंधन में फ्रांस देगा मदद

खुद के 12 लाख रुपये से खरीदे उपकरण, फिर डॉक्टर ने किए ऑपरेशन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 11, 2019, 3:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...