हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय होम आइसेलेटेड, कोरोना संक्रमित पत्नी IGMC में भर्ती

पत्नी के कोरोना संक्रमित होने के बाद हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय होम आइसोलेशन में गए.

सोमवार को कोरोना संक्रमण के कुल 3 हजार 546 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 3 हजार 760 मरीजों ने कोरोना को मात दी है. फिलहाल प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 36 हजार 633 पहुंच गई है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में सोमवार को राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय की पत्नी भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गई हैं. पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कुल 3546 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इस दौरान 58 मरीजों की मौत हुई है. फिलहाल प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 36 हजार 633 पहुंच गई है. प्रदेश में सोमवार को 3 हजार 760 मरीजों ने कोरोना को मात दी है.

सबसे ज्यादा प्रभावित जिला कांगड़ा

कोरोना संक्रमित राज्यपाल की पत्नी को आईजीएमसी में भर्ती किया गया है, उनकी हालत स्थिर है. राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय होम आइसोलेट किए गए हैं. राजभवन के दो कर्मचारी भी संक्रमित हैं और करीब 12 कर्मचारियों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है. हिमाचल के 8 जिलों में संक्रमण तेजी से फैल रहा है, सबसे ज्यादा प्रभावित जिला कांगड़ा है.

प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट 28.9

हिमाचल में शहरों के बाद अब ग्रामीण इलाकों में भी कोरोना अपनी जड़ें फैला रहा है. पॉजिटिविटी रेट राष्ट्रीय औसत से ज्यादा पहुंच गया है और मृत्यु दर में भी बढ़ोतरी हुई है. फिलहाल प्रदेश में मृत्यु दर 1.52 फीसदी पहुंच चुकी है और पॉजिटिविटी रेट 28.9 है.

1 लाख 24 हजार 434 मरीज हुए स्वस्थ

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में अब तक 1 लाख 24 हजार 434 मरीज कोरोना महामारी से जंग जीतकर स्वस्थ हो चुके हैं और रिकवरी दर 75.5 प्रतिशत है. एनएचएम मिशन के निदेशक डॉ. निपुण जिंदल के अनुसार, प्रदेश में अब तक कुल 1 लाख 61 हजार 072 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. उन्होंने बताया कि इस साल फरवरी में कोरोना मरीजों के सक्रिय मामलों की संख्या 200 तक सीमित हो गई थी, लेकिन दूसरी लहर आने के बाद इसमें तेजी से बढ़ोतरी हुई.

कोरोना से निकलने के बाद इन बातों का रखें ध्यान

स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि कोरोना महामारी से ठीक होने के बाद बहुत से लोग थकान, शरीर में दर्द, खांसी, गले में खराश, सांस लेने में कठिनाई सहित अन्य कई तरह के लक्षण बता रहे हैं, लेकिन ऐसे लोगों को उचित देखभाल और सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाने की जरूरत है. कोविड अनुरूप व्यवहार जैसे मास्क का प्रयोग, हाथों को बार-बार धोना, सैनेटाइजर का प्रयोग और सामाजिक दूरी बनाए रखने जैसे नियमों का निरन्तर पालन करने की आवश्यकता है. पर्याप्त मात्रा में गर्म पानी पीना, इम्युनिटी बढ़ाने वाली दवाइयों का प्रयोग, रोजाना योगासन, सुबह-शाम की सैर, संतुलित आहार, पर्याप्त मात्रा में नींद और आराम करना भी जरूरी है. इसके अतिरिक्त शराब पीने और धूम्रपान करने से बचना चाहिए. गले में कफ या खराश की शिकायत होने पर भाप लेना चाहिए और गरारे करने की सलाह दी गई है.

सीएम ने कहा - दुरुस्त हो रही हैं कमियां

सीएम जय राम ठाकुर ने भी चिंता जताई है. सीएम ने कहा कहा कि कमियां दुरुस्त की जा रही हैं. उम्मीद है कि जल्द ही ये दूसरी लहर थम जाएगी. संक्रमण को रोकने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं.