जीएसटी का विरोध, किसी भी टेंडर प्रक्रिया में हिस्सा नहीं लेंगे ठेकेदार

News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 2:29 PM IST
जीएसटी का विरोध, किसी भी टेंडर प्रक्रिया में हिस्सा नहीं लेंगे ठेकेदार
मीटिंग के दौरान ठेकेदार.
News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 2:29 PM IST
प्रदेश विधानसभा चुनाव के चलते पूरे प्रदेश में आचार संहिता लागू हो गई है. जिससे सरकार कोई भी नई चुनावी घोषणा नहीं कर सकती है. लेकिन राजधानी शिमला में जो विकास कार्य अभी चल रहे हैं, उन पर भी अब विराम लग सकता है.

जय मां तारा ठेकेदार यूनियन और एमसी यूनियन ने सरकार के विकास कार्यों को करने से हाथ खड़े कर दिए हैं. शुक्रवार को हुए सम्मेलन में ठेकेदार यूनियन ने किसी भी प्रकार के टेंडर प्रक्रिया में भाग लेने से मना कर दिया है.

यूनियन का कहना है कि जब तक सरकार ठेकेदारों पर से जीएसटी नहीं हटाती है और ईपीएफ को एस्टीमेट में शामिल नहीं किया जाता है, तब तक वे टेंडर प्रक्रिया का बहिष्कार करेंगे.

यूनियन के प्रधान ओपी ठाकुर का कहना है कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण सभी ठेकेदार परेशान हैं और हर बिल पर जीएसटी काटा जा रहा है, जिससे उन्हें काफी नुक्सान हो रहा है. उन्होंने कहा कि जब तक ठेकेदारों कि समस्यायों का हल निकाला जाता, तब तक वे किसी भी नए काम को हाथ में नहीं.
First published: October 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर