कोटखाई गैंगरेप केस: फिर छलका गुड़िया के परिजनों का दर्द बोले-CBI जांच से संतुष्ट नहीं
Shimla News in Hindi

कोटखाई गैंगरेप केस: फिर छलका गुड़िया के परिजनों का दर्द बोले-CBI जांच से संतुष्ट नहीं
शिमला का चर्चित गुड़िया केस. (सांकेतिक तस्वीर)

गुड़िया के पिता ने सीबीआई जांच को अधूरा बताया. उन्हें भरोसा नहीं है कि अकेला व्यक्ति इस जघन्य अपराध को अंजाम दे सकता है. गुड़िया बहन ने भी कहा कि इसमें एक ज्यादा लोग शामिल हैं.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला (Shimla) जिले के बहुचर्चित कोटखाई रेप और हत्याकांड (Kotkhai Gangrape and Murder) मामले को 4 साल बीत गए हैं, लेकिन अब तक न्याय नहीं मिल पाया है. गुड़िया (Gudia Case) के परिजन और प्रदेश की जनता इंसाफ के इंतजार में है. गुड़िया के पिता और बहन ने एक बार फिर CBI जांच पर सवाल उठाए हैं. केंद्र सरकार से मामले की दोबारा जांच की मांग की है.

गुड़िया की बहन और पिता ये बोले
गुड़िया के पिता ने सीबीआई जांच को अधूरा बताया. उन्हें भरोसा नहीं है कि अकेला व्यक्ति इस जघन्य अपराध को अंजाम दे सकता है. गुड़िया बहन ने भी कहा कि इसमें एक ज्यादा लोग शामिल हैं. सीबीआई जांच से संतुष्ट नहीं हैं. उन्होंने कहा इस मामले में कुछ अहम साक्ष्य छूट गए हैं. गुड़िया की क्लिप और जुराब अब तक नहीं मिली है, जिससे काफी जानकारी मिल सकती थी. गुड़िया की बहन ने आम जनता और केंद्र सरकार से न्याय दिलवाने की मांग की है. केंद्र सरकार से दोबारा जांच की मांग की है.

ये है पूरा मामला
कोटखाई में दसवीं कक्षा की नाबालिग छात्रा गुड़िया (काल्पनिक नाम) 4 जुलाई, 2017 को लापता हुई थी. गुड़िया अपने स्कूल से करीब साढे़ 4 बजे जंगल के रास्ते घर को निकली थी, मगर वो घर नहीं पहुंची.6 जुलाई को गुड़िया की लाश नग्न अवस्था में हलाईला के दांदी जंगल में मिली थी. इस मामले पर तत्कालीन डीजीपी ने आईजी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया था. एसआईटी ने 55 घंटो के भीतर पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया था. इस बीच एक आरोपी सूरज की 18 जुलाई 2017 को लॉकअप में मौत हो गई, जिसके बाद जनता भड़क गई थी. लोगों  के आक्रोश को देखते हुए तत्कालीन वीरभद्र सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी.



9 पुलिसवाले हुए थे गिरफ्तार
सीबीआई ने जांच शुरू की और सूरज की कस्टोडियल डेथ के मामले में आईजी,एसपी और डीएसपी समेत जांच में शामिल पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया था. गुड़िया रेप केस में नीलू नाम के चिरानी को गिरफ्तार किया. सीबीआई ने नीलू को दोषी बताया है. गुड़िया रेप केस मामले पर जिला अदालत शिमला में ट्रायल चल रहा है जबकि इसी केस से जुड़े कस्टोडियल डेथ का मामला चंडीगढ़ सीबीआई कोर्ट में चल रहा है. इस मामले में पहले पुलिस और अब सीबीआई की थ्योरी पर गुड़िया के परिजनों समेत आम जनता को विश्वास नहीं हो रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading