HimachalWeatherUpdate: झमाझम बारिश, जलस्तर बढ़ने से ऊफान पर नदी और नाले
Shimla News in Hindi

HimachalWeatherUpdate: झमाझम बारिश, जलस्तर बढ़ने से ऊफान पर नदी और नाले
मंडी में सुकेती खड्ड में बढ़ा पानी.

एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान ने लोगों से अपील की है कि नदी नालों के किनारे जाने से परहेज करें और नदी नालों से उचित दूरी बनाकर रखें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 15, 2020, 11:27 AM IST
  • Share this:
शिमला/मंडी. हिमाचल प्रदेश में मॉनसून (Monsoon) ने पूरी तरह से दस्तक दे दी है. प्रदेश के तमाम इलाकों में बारिश हुई है. हिमाचल में मौसम विभाग की ओर से येलो अलर्ट जारी किया गया है. इस दौरान भारी बारिश (Heavy Rain) की संभावना जताई गई है.

चौबीस घंटे में कहां-कहां बारिश
बीते चौबीस घंटे में हिमाचल में मंडी, शिमला, पावंटा साहिब, सुंदरनगर, धर्मशाला, कांगड़ा, सोलन, चंबा में बारिश हुई है. बीते चौबीस घंटे में सबसे अधिक बारिश सिरमौर के पावंटा साहिब में हुई हैं. यहां 34 एमएम पानी बरसा है. इसके अलावा, सोलन में 22, ऊना में 15 एमएम, सुंदरनगर में 14 एमएम, चंबा में 16, कांगड़ा में 19 एमएम बारिश दर्ज की गई है. 17 और 18 जुलाई को पूरे प्रदेश में भारी बारिश और अंधड़ की चेतावनी जारी की गई है. 20 जुलाई तक प्रदेश में मौसम खराब बने रहने का पूर्वानुमान है.

मैदानी इलाकों में उमस
बारिश और धूप के चलते बीते दो दिनों से मैदानी जिलों के मौसम में उमस भी बढ़ गई है. मंगलवार को ऊना में अधिकतम तापमान 36.6, भुंतर में 35.1, बिलासपुर में 34.0, हमीरपुर-सुंदरनगर में 33.8, कांगड़ा में 33.6, चंबा में 33.3, सोलन-धर्मशाला में 31.2, नाहन में 29.5, किन्नौर के कल्पा में 27.0, शिमला में 25.7, केलांग में 25.0 और डलहौजी में 21.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ.



नदी नाले में बढ़ा पानी
मॉनसून के दस्तक देने से नदी नाले भी उफान पर पहुंचने लगे हैं. मंगलवार रात मंडी जिला के ऊपरी और मैदानी क्षेत्र में हुई जोरदार बारिश के कारण सुकेती खड्ड उफान पर है. सुंदरनगर से मंडी के रानी बाईं तक के दायरे में हजारों बीघा जमीन सुकेती के उफान के कारण जलमग्न हो गई, इससे किसानों को काफी नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है. नालों में भी जलस्तर बढ़ गया है. सुकेती खड्ड के उफान पर आने से लोग सतर्क हो गए है.

नदी और नालों के पास ना जाएं-प्रशासन
स्थानीय निवासी अमन वर्मा ने बताया की देर रात हुई भारी बारिश के कारण सुकेती खड्ड का जलस्तर बढ़ गया है, जिससे किसानो की हजारो बीघा जमीन और फसल के बर्बाद होने की आशंका जताई जा रही है. एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान ने लोगों से अपील की है कि नदी नालों के किनारे जाने से परहेज करें और नदी नालों से उचित दूरी बनाकर रखें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading