अपना शहर चुनें

States

प्री-मॉनसून का कहर: शिमला में कहीं दुकानों में घुसा पानी तो कहीं लैंडस्लाइड

शिमला में लैंडस्लाइड.
शिमला में लैंडस्लाइड.

Heavy rain in Shimla: वार्ड पार्षद विवेक शर्मा ने बताया कि बीते कल शिमला शहर में भारी बारिश हुई है, जिससे शहर में कोरोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) में प्री-मानसून में हो रही भारी बारिश ने कहर बरपाना शुरु कर दिया है. तीन दिन से हो रही बारिश का पानी जहां लोगों के घरों में घुस गया है, वहीं शहर में जगह जगह लैंड स्लाइड ने लोगों की चिंताएं बढ़ा दी है. भारी बारिश (Rain) ने नगर निगम शिमला को भी चौकन्ना कर दिया है और समय रहते बरसात से निपटने की तैयारियां करने की चेतावनी दे दी है. भारी बारिश (Heavy Rain) का पानी जहां रामबाज़ार में दुकानदारों के चप्पल बहाकर ले गया, वहीं नाभा में बारिश का पानी दुकांनों में घुस गया जिससे दुकानों में रखा सामान खराब हो गया.

पार्किंग धंस गई, मकान को खतरा

मंगलवार रात को को टूटू-एयरपोर्ट मार्ग पर नगर निगम शिमला द्वारा बनाई जा रही पार्किंग भी धंस गई. हालांकि पार्किंग निर्माण अभी शुरु ही हुआ है, लेकिन भारी बारिश से निर्माण कार्य पर लैंड स्लाइड हुआ है, जिससे एक मकान को खतरा पैदा हो गया है. गनीमत यह है कि बीती रात हुए लैंडस्लाइड से किसी तरह की कोई बड़ी घटना नहीं हुई है.



यह बोले स्थानीय पार्षद
वार्ड पार्षद विवेक शर्मा ने बताया कि बीते कल शिमला शहर में भारी बारिश हुई है, जिससे शहर में कोरोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है. भारी बारिश से टूटू में भी लैंडस्लाइड हुआ है, जिससे एक मकान को खतरा पैदा हो गया है. उन्होंने बताया कि नगर निगम शिमला करीब अढाई करोड़ से पार्किंग का निर्माण कार्य कर रहा है, जिसे लॉक डाउन के दौरान शुरु किया गया है. लेकिन भारी बारिश ने निर्माण के लिए खुदाई किए हुए स्थान से लैंड स्लाइड हुआ है, जिससे रिहायशी मकान को खतरा हो गया है.

मकान खाली किया

अब मकान को पूरी तरह से खाली किया गया है. मकान में दो परिवार रहते हैं इसके अलावा ज्यादातर दुकानें हैं. मकान में रहने वाले परिवार अपने रिश्तेदारों के घरों में चले गए हैं. अब मकान पूरी तरह से खाली है. उन्होंने बताया कि मकान सुरक्षित रखने के लिए फिलहाल तिरपाल बिछाई गई है, ताकि ज्यादा लैंडस्लाइड न हो. उन्होंने बताया कि यदि मौसम साफ होता है तो वे तेज गति से निर्माण कार्य को पूरा करेंगे, ताकि किसी तरह का कोई नुकसान न हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज