हिमाचल में 3 दिन तक भारी बारिश, सिरमौर में रिकॉर्डतोड़ 202 एमएम पानी बरसा

बुधवार रात से सुबह तक सिरमौर के पांवटा साहिब में सीजन की सबसे अधिक 202.0 मिमी बारिश दर्ज की गई. जिससे यमुना नदी का स्तर बढ़ गया है. वहीं, नाहन में 109.4 मिमी, पालमपुर में 89 मिमी, ऊना में 87.4 मिमी और शिमला में 2.9 मिमी बारिश दर्ज की गई है.

Reshma Kashyap | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 11, 2018, 4:18 PM IST
हिमाचल में 3 दिन तक भारी बारिश, सिरमौर में रिकॉर्डतोड़ 202 एमएम पानी बरसा
नाहन में भारी बारिश में फंसी HRTC बस.
Reshma Kashyap | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 11, 2018, 4:18 PM IST
हिमाचल प्रदेश में बुधवार से अगले तीन दिन तक भारी बारिश का अनुमान है. लेकिन सिरमौर जिले से इसकी शुरुआत हो चुकी है. पांवटा साहिब में बुधवार सुबह तक सीजन की सबसे अधिक 202.0 मिमी बारिश दर्ज की गई, जिससे यमुना के जल स्तर में बढ़ौतरी दर्ज की गई है. मौसम विभाग ने 13 जुलाई तक प्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है.

मॉनसून कुछ दिनों पहले सुस्त पडने के बाद अब फिर सक्रिय हो गया है. इसका प्रभाव प्रदेश में सोमवार से देखने को मिल रहा है. मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में 11 से 13 जुलाई तक प्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है.

11 और 12 जुलाई को विशेष कर शिमला, सिरमौर, कांगड़ा, चंबा, हमीरपुर और बिलासपुर में भारी बारिश होगी. 13 जुलाई को ऊना, मंडी, सोलन और कांगड़ा में बादल जम कर बरसेंगे.

यमुना नदी का जल स्तर बढ़ा

बुधवार रात से सुबह तक सिरमौर के पांवटा साहिब में सीजन की सबसे अधिक 202.0 मिमी बारिश दर्ज की गई. जिससे यमुना नदी का स्तर बढ़ गया है. वहीं, नाहन में 109.4 मिमी, पालमपुर में 89 मिमी, ऊना में 87.4 मिमी और शिमला में 2.9 मिमी बारिश दर्ज की गई है.

आपदा प्रबंधन को भी सूचना दी: मौसम विभाग
जब मौसम बिगड़ता है तो उसके साथ मुसीबतें भी हज़ार आती हैं. बारिश होने की वजह से प्रदेश भर में कई घटनाएं देखने को मिल रहीं है. राजधानी शिमला में पेड़ गिरने और भू-स्खलन होने जैसी घटनाएं सामने आ रही हैं.
Loading...
कई स्थानों पर घरों में पानी और मलबा घुसा है. छोटे रास्ते बाधित हुए हैं. शिमला मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह का कहना है कि मौसम विभाग ने भारी बारिश को लेकर जिला प्रशासन और आपदा प्रबंध को भी सूचना दी गई है, ताकि प्रशासन हर मुसीबत से निपटने के लिए मुस्तैद रहे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर