Assembly Banner 2021

बजट सत्र: विधानसभा में बोले मंत्री महेंद्र सिंह-आउटसोर्स पर रखे 989 कर्मचारी जल शक्ति विभाग में होंगे मर्ज

हिमाचल के जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर. (FILE PHOTO)

हिमाचल के जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर. (FILE PHOTO)

Outsource Employees in Himachal: आउटसोर्स पर रखे कर्मचारियों को पंप ऑपरेटर, फिटर, बेलदार, डाटा ऑपरेटर और इलेक्ट्रिशियन के पद पर रखा जाएगा.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश विधानसभा (Himachal Assembly) के बजट सत्र (Budget Session) में जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने अहम बयान दिया है. उन्होंने कहा कि जल शक्ति महकमे में आउटसोर्स पर रखे गए 989 कर्मचारियों को विभाग में मर्ज किया जाएगा. मंत्रिमंडल (Cabinet) की बैठक में मंजूरी के लिए इस संबंध में प्रस्ताव पेश किया जाएगा.

बजट सत्र के तीसरे दिन प्रश्नकाल के दौरान भाजपा (BJP) विधायक रमेश चंद धवाला के सवाल का जवाब देते हुए मंत्री ने कहा कि पूर्व की कांग्रेस सरकार ने विभाग की कई स्कीमों को आउटसोर्स किया था. इससे पहले हर साल 14.21 करोड़ रुपये मरम्मत पर खर्च करने पड़ रहे थे. अब चार करोड 13 लाख रुपये खर्च हो रहे हैं. ऐसे में दस करोड़ रुपये की बचत हुई है. उन्होंने कहा कि स्कीमों को ठीक ढंग से चलाने के लिए और आउटसोर्स पर रखे कर्मचारियों को पंप ऑपरेटर, फिटर, बेलदार, डाटा ऑपरेटर और इलेक्ट्रिशियन के पद पर रखा जाएगा.

554 वोकेशनल शिक्षकों को नियमित करने का नहीं विचार
हिमाचल प्रदेश में चल रहे व्यावसायिक शिक्षा वाले स्कूलों में नियुक्त 554 शिक्षकों को नियमित करने के लिए नीति बनाने का अभी सरकार का कोई विचार नहीं है. कांग्रेस विधायक इंद्रदत्त लखनपाल के सवाल का लिखित जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री ने बताया कि प्रदेश में विभिन्न ट्रेड के आउटसोर्स आधार पर नियुक्त वोकेशनल ट्रेनर/शिक्षकों को मानदेय के रूप में प्रतिमाह पंद्रह हजार रुपये निर्धारित किए गए हैं. एक वर्ष की सेवा पूरी होने पर 500 रुपये की वृद्धि भी की जाती है. वहीं माकपा विधायक के सवाल के जबाव में बताया गया है कि बिजली विभाग में 811 लोगों को आउटसोर्स पर रखा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज