Assembly Banner 2021

बजट सत्रः सदन छोड़कर गए कांग्रेस सदस्यों को लौटने के लिए मिला 4 मिनट, MLA बोले- हनुमान नहीं कि तुरंत लौट आते

हिमाचल विधानसभा के बाहर धरना देते हुए कांग्रेस विधायक.

हिमाचल विधानसभा के बाहर धरना देते हुए कांग्रेस विधायक.

Himachal Assembly Budget Session Live: हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र से निलंबित कांग्रेस विधायकों का धरना बुधवार को भी जारी रहा. कांग्रेस विधायकों ने उन्हें बहाल करने की मांग की है. मुकेश अग्निहोत्री, हर्षवर्धन, विनय कुमार, सुंदर सिंह और सहित अन्य विधायक भी धरने में शामिल रहे.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र (Himachal Assembly Budget Session) के चौथे दिन भी बुधवार को सदन की कार्यवाही में विरोध और हंगामा देखने को मिला. कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी समेत कई अन्य विधायकों ने प्रश्नकाल चलाने का विरोध किया. जगत सिंह नेगी ने प्वाइंट ऑफ ऑर्डर के तहत व्यवस्था मांगी और कहा कि 26 फरवरी को सदन को स्थगित किया और बाद में दोबारा बुलाया गया.

ऐसे में कांग्रेस को सदन में दोबारा से लौटने के लिए केवल चार मिनट दिए गए. हम कोई स्पाइडरमैन, हनुमान नहीं थे कि इतने कम समय में लौट आते. नेगी ने कहा कि कम से कम 48 घंटे का समय देना चाहिए था. विपक्ष को सुने बगैर ही एकतरफा निलंबन का फैसला दिया गया है. यह गलत है.

और क्या बोले नेगी
कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी ने कहा कि देशद्रोह की धारा-124 कांग्रेस विधायकों पर लगाई गई है. क्या हम पाकिस्तानी या चीनी हैं? सदन में कांग्रेस विधायकों का निलंबन रद्द करने की मांग उठी और विपक्ष ने नारेबाजी शुरू कर दी. शोर-शराबे में प्रश्नकाल चलता रहा. बाद में सदन से वॉकआउट कर दिया.
सीएम ने दिया बयान


विपक्ष के बिना प्रश्नकाल की कार्यवाही बुधवार को 12 बजे संपन्न की गई तो इस पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि विपक्ष का रवैया चिंताजनक है. यह मामला कांग्रेस के लिए अपने ही गले की हड्डी बन गई है. सीएम जयराम ठाकुर ने नेगी के सवाल पर कहा कि अगर चार या पांच मिनट पहले संदेश मिला तो ये लोग कितने किलोमीटर दूर चले गए थे. विपक्ष के लॉज में ही तो बैठे थे. विपक्ष की अगर कार्यवाही में भाग लेने की नीयत होती तो वे भाग ले सकते थे. सीएम जयराम ने तंज कसते हुआ कहा कि इन्हें लग रहा था कि इतना बड़ा काम कर दिया है कि जिसका कोई सम्मान मिलना चाहिए था.

जगत सिंह नेगी को जानकारी नहीं
सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी को यह जानकारी नहीं है कि राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और राज्यपाल के काम में बाधा पहुंचाई जाए तो इस तरह की धाराएं लगती हैं.

निलंबित कांग्रेस विधायकों का धरना जारी
हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र से निलंबित कांग्रेस विधायकों का धरना बुधवार को भी जारी रहा. कांग्रेस विधायकों ने उन्हें बहाल करने की मांग की है. मुकेश अग्निहोत्री, हर्षवर्धन, विनय कुमार, सुंदर सिंह और सहित अन्य विधायक भी धरने में शामिल रहे. पांच कांग्रेसी विधायकों को 20 मार्च तक के लिए सस्पेंड किया गया है. 20 मार्च को ही बजट सत्र समाप्त होगा. छह मार्च को बजट पेश किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज