अपना शहर चुनें

States

हिमाचल विस चुनाव : ठियोग सीट से कांग्रेस ने 3 बार बदला प्रत्याशी, खूब झेली फजीहत

Himachal assembly Election- Shimla's Theog Seat.
Himachal assembly Election- Shimla's Theog Seat.

हिमाचल प्रदेश विधान चुनाव में कांग्रेस को शिमला के ठियोग विधानसभा की सीट पर खासी फजीहत झेलनी पड़ी थी. इस सीट से कांग्रेस ने तीन बार अपना प्रत्याशी बदला.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 18, 2017, 3:24 AM IST
  • Share this:
हिमाचल प्रदेश विधान चुनाव को लेकर कांग्रेस को शिमला के ठियोग विधानसभा की सीट पर खासी फजीहत झेलनी पड़ी थी. इस सीट से कांग्रेस ने तीन बार अपना प्रत्याशी बदला. शिमला से 30 किलोमीटर ये सीट कांग्रेस की परंपरागत सीट है.

यूं चला था सियासी ड्रामा
इस सीट पर सबसे पहले सीएम वीरभद्र सिंह ने चुनाव लड़ने का ऐलान किया था. उनके लिए बाकायदा, कांग्रेस की कद्दावर नेता विद्या स्टोक्स यहां से चुनाव लड़ने से हट गई. बाद में सीएम ने अर्की से चुनाव लड़ने का फैसला किया तो विद्या ने फिर ठियोग से लड़ने का फैसला किया.

इस बार उनकी तबीयत बिगड़ गई और वे चंडीगढ़ इलाज के लिए रवाना हुईं. इसी मद्देनजर यहां से कांग्रेस ने फिर प्रत्याशी बदला. विजय बिहारी लाल खाची का नाम चर्चा में आया. खुद सीएम वीरभद्र सिंह ने फेसबुक और ट्विटर पर खाची को टिकट मिलने की बधाई दी थी. लेकिन लिस्ट में दीपक राठौर का नाम निकला और कांग्रेस की काफी फजीहत हुई.
राठौर के नाम के ऐलान के बाद विद्या स्टोक्स ने एक बार फिर से चुनावी दंगल में उतरने का फैसला किया था. नामांकन के अंतिम दिन अपना पर्चा दाखिल किया. दीपक राठौर ने भी पार्टी का आधिकारिक पत्र देकर पर्चा भरा. लेकिन विद्या स्टोक्स का नामांकन खारिज हो गया और दीपक राठौर कांग्रेस प्रत्याशी बने.



ठियोग से आठ बार विधायक रहीं हैं विद्या
इस सीट पर कई दशकों से कांग्रेस का दबदबा रहा है. विद्या स्टोक्स आठ बार की विधायक और मौजूदा सरकार में सिंचाई मंत्री हैं. वे सरकार में वीरभद्र के बाद नंबर दो मानी जाती थी. कई बार सीएम पद की रेस में रहीं. इस बार विद्या स्टोक्स का पर्चा इसलिए खारिज कर दिया था, क्योंकि उनका फॉर्म-बी अधूरा था.90 साल हैं और सबसे उम्रदराज कांग्रेस नेता हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज