होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

क्या कांग्रेस में लौटेंगे अनिल शर्मा? बेटे आश्रय ने सुक्खू संग शेयर की पिता की तस्वीर, लिखा-आज के कर्ण-अर्जुन

क्या कांग्रेस में लौटेंगे अनिल शर्मा? बेटे आश्रय ने सुक्खू संग शेयर की पिता की तस्वीर, लिखा-आज के कर्ण-अर्जुन

विधानसभा के बाहर कांग्रेस नेता सुखविंदर सुक्खू और भाजपा में हाशिये पर चल रहे मंडी सदर से विधायक अनिल शर्मा की तस्वीर की खासी चर्चा हुई.

विधानसभा के बाहर कांग्रेस नेता सुखविंदर सुक्खू और भाजपा में हाशिये पर चल रहे मंडी सदर से विधायक अनिल शर्मा की तस्वीर की खासी चर्चा हुई.

Anil Sharma and Sukhwinder Sukhu Viral Photos: मॉनसून सत्र से पहले मंगलवार को शिमला में भाजपा विधायक दल की बैठक हुई थी. इस दौरान भी अनिल शर्मा को मीटिंग में नहीं बुलाया गया था. ना ही अनिल शर्मा ने मीटिंग में शिरकत की. अब सत्र के पहले दिन सदन के बाहर अनिल शर्मा ने खुलकर अपनी बात रखी है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

तस्वीर सामने आने के बाद अब फिर से चर्चा चलने लगी है कि क्या अनिल शर्मा एक बार फिर से कांग्रेस में शामिल होंगे.
पंडित सुखराम के बेटे अनिल शर्मा पुत्र आश्रय शर्मा के 2019 में कांग्रेस से चुनाव लड़ने के बाद से ही हाशिये पर चल रहे हैं.

शिमला. हिमाचल प्रदेश में मौजूदा समय में विधानसभा का मॉनसून सत्र चल रहा है. बुधवार को शुरू हुए सत्र के पहले दिन जहां कांग्रेस ने अविश्वास प्रस्ताव लाया. वहीं, विधानसभा के बाहर कांग्रेस नेता सुखविंदर सुक्खू और भाजपा में हाशिये पर चल रहे मंडी सदर से विधायक अनिल शर्मा की तस्वीर की खासी चर्चा हुई. दोनों नेता सदन के बाहर एक दूसरे के का हाथ थामे नजर आए.

तस्वीर सामने आने के बाद अब फिर से चर्चा चलने लगी है कि क्या अनिल शर्मा एक बार फिर से कांग्रेस में शामिल होंगे. पंडित सुखराम के बेटे अनिल शर्मा पुत्र आश्रय शर्मा के 2019 में कांग्रेस से चुनाव लड़ने के बाद से ही हाशिये पर चल रहे हैं. अनिल शर्मा के बेटे आश्रय ने सुखविंदर सुक्खू और अपने पिता की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की और लिखा कि ‘आज के कर्ण अजुर्न’

मॉनसून सत्र में इस बार भाजपा विधायक अनिल शर्मा ने कोई सवाल नहीं लगाया है. इस पर उन्होंने कहा कि उन प्रश्नों को उठाकर कोई भी लाभ नहीं होता है, जिनका कोई कार्यान्वयन न हो. बुधवार को अनिल शर्मा ने कहा कि परिस्थितियां बदलीं तो चुनाव बेटे ने लड़ा था. साथ ही कहा कि वह भाजपा और कांग्रेस हाईकमान से मुलाकात करेंगे और फिर अगली रणनीति बनाएंगे.  अनिल शर्मा ने कहा कि वह तकनीकी तौर पर भाजपा के विधायक हैं.

विधायक दल की बैठक में नहीं बुलाया

मॉनसून सत्र से पहले मंगलवार को शिमला में भाजपा विधायक दल की बैठक हुई थी. इस दौरान भी अनिल शर्मा को मीटिंग में नहीं बुलाया गया था. ना ही अनिल शर्मा ने मीटिंग में शिरकत की. अब सत्र के पहले दिन सदन के बाहर अनिल शर्मा ने खुलकर अपनी बात रखी है.

कौन हैं अनिल शर्मा

अनिल शर्मा हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज और स्वर्गीय नेता पंडित सुखराम के बेटे हैं. साल 2017 में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सुखराम अपने बेटे के साथ भाजपा में शामिल हो गए थे. लेकिन बाद में 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले, सुखराम अपने पोते के साथ दोबारा कांग्रेस में शामिल हुए. मंडी लोकसभा सीट से कांग्रेस ने आश्रय को टिकट दिया, लेकिन वह चुनाव हार गए. उसके बाद अनिल शर्मा को जयराम कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा और वह तब से लेकर हाशिये पर चल रहे हैं. उनके दोबारा कांग्रेस में जाने की अटकलें लगती रही हैं.

Tags: Himachal Congress, Himachal news, Himachal pradesh, Shimla

अगली ख़बर