हिमाचल में मंत्रियों के बेनामी संपति सौदों पर कांग्रेस का सदन में हंगामा, वॉकआउट किया
Shimla News in Hindi

हिमाचल में मंत्रियों के बेनामी संपति सौदों पर कांग्रेस का सदन में हंगामा, वॉकआउट किया
हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बाहर कांग्रेस.

Himachal Assembly Monsoon Session: हाल ही में कैबिनेट में शामिल एक मंत्री पर कांग़ड़ा में जमीनें खरीदने के आरोप लगे हैं. इस पर कैबिनेट मंत्री को दिल्ली कें भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने भी बुलाया था. अब विधानसभा में यह मामला उठा है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के विधानसभा के मॉनसून सत्र (Monsoon Session) के सातवें दिन का आगाज भी विरोध और हंगामे के साथ हुआ. विपक्ष ने सबसे पहले विधानसभा (Vidhansabha) अध्यक्ष के चैंबर के बाहर बैठकर अपना विरोध जताया और आरोप लगाया कि सदन के अंदर विपक्ष (Opposition) की आवाज को दबाया जा रहा है. सदन में विपक्ष के विरोध को सदन की कार्रवाही में दर्ज नहीं करवाया जा रहा है. विपक्ष ने विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार (Vipen Singh Parmar) से विपक्ष के हितों की सुरक्षा और संरक्षण प्रदान करने की मांग की.

प्रश्नकाल में हंगामा
विधानसभा अध्यक्ष के चेंबर के बाहर विरोध जताने के बाद 11:00 बजे जैसे ही प्रश्नकाल शुरू हुआ तो विपक्ष ने सबसे पहले 3 साल के भीतर मंत्रियों के बेनामी भूमि सौदों पर नियम 67 के तहत चर्चा मांगी. विधानसभा अध्यक्ष से सदन में चर्चा की अनुमति न मिलने से नाराज विपक्ष ने 20 मिनट तक प्रश्नकाल नहीं चलने दिया और बाद में वॉकआउट किया.

क्या बोले कांग्रेसी
विधानसभा के बाहर मीडिया से बातचीत करते हुए कांग्रेस के विधायक राजेंद्र राणा ने कहा कि सरकार सदन के अंदर चर्चा से भाग रही है. विपक्ष नियम-67 के तहत मन्त्रियों की बेनामी जमीन खरीद पर चर्चा की मांग कर रहा था. विपक्ष की मांग है कि 3 साल में जो ख़रीद फ़रोख़्त हुई है, उनकी जांच से सरकार के भागने के पीछे क्या वजह है?



कांग्रेस विधायक राजेंद्र राणा.


क्यों उठा मामाला
दरअसल, हाल ही में कैबिनेट में शामिल एक मंत्री पर कांग़ड़ा में जमीनें खरीदने के आरोप लगे हैं. इस पर कैबिनेट मंत्री को दिल्ली कें भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने भी बुलाया था. विपक्ष ने भी यह मुद्दा उठाया था. अब विधानसभा में यह मामला उठा है. इसलिए कांग्रेस विधायकों ने भूमि सौदों की जानकारी साझा करने मांग की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज