मॉनसून सत्र: MLA को कोरोना से बचाने के लिए हिमाचल विस में ₹4 लाख से लगाई पॉली कार्बोनेट शीट्स
Shimla News in Hindi

मॉनसून सत्र: MLA को कोरोना से बचाने के लिए हिमाचल विस में ₹4 लाख से लगाई पॉली कार्बोनेट शीट्स
हिमाचल विधानसभा के अंदर शीशे की दीवार.

Himachal Assembly Monsoon Session: हिमाचल में 7 सितंबर को 10 दिवसीय मॉनसून सत्र की कार्यवाही शुरू होगी. मॉनसून सत्र के हंगामेदार रहने के आसार हैं. फिलहाल सत्र की तैयारियां की गई हैं.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में कोरोना (Corona Virus) की अनियंत्रित और गंभीर होती स्थिति के बीच 7 सितंबर से 13वीं विधानसभा का 9वां सत्र शुरू होगा. जयराम सरकार (Jairam Govt) ने मॉनसून सत्र को लेकर विधानसभा (Assembly) सचिवालय ने तैयारियां की हैं. गुरुवार को सर्वदलीय बैठक भी हुई है. अहम बात यह है कि विधायकों (MLA) और कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए सदन के अंदर चार लाख रुपये खर्चकर से पॉली कार्बोनेट शीट्स (Poly Carbonate Sheets) लगाई गई हैं.

विधानसभा अध्यक्ष ने दी जानकारी

विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने कहा कि इस बार का मॉनसून सत्र कोरोना के चलते अपने आप में अलग तरह से आयोजित किया जाएगा. विपिन सिंह परमार ने कहा कि सत्र के दौरान 1200 कर्मचारी विधानसभा में विभिन्न ड्यूटी पर तैनात रहते थे, लेकिन इस बार सोशल डिस्टेंसिंग के चलते महज 400 कर्मचारियों के कंधों पर मॉनसून सत्र के सफल आयोजन का जिम्मा रहेगा. परमार ने कहा कि विधानसभा सदन के अंदर पॉली कार्बोनेट शीट्स लगाई गई हैं, जिस पर 4 लाख का खर्च हुआ है.



32 शीट्स लगाई गई हैं-स्पीकर
पॉली कार्बोनेट शीटस से एक सदस्य से दूसरे सदस्यों के बीच संक्रमण का खतरा न के बराबर रह जाएगा. सदन के अंदर करीब 32 पॉली कार्बोनेट शीट्स लगाई गई है, जिसे एक और दूसरे सदस्य की कुर्सी के बीच में स्थापित किया गया है. विपिन सिंह परमार ने सदन के अंदर की तैयारियों का जायजा लिया और सभी विधायकों से सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की अपील की.

इस बार बाहरी नहीं जा पाएंगे

विपिन परमार ने कहा कि सदन की कार्रवाई में किसी बाहरी लोगों को अनुमति नहीं दी जाएगी. मॉनसून सत्र के दौरान डॉक्टरों की टीम विधानसभा में मौजूद रहेगी. गेट नंबर 1, 2 और 3 सभी पर थर्मल स्क्रीनिंग होगी. कोरोना को लेकर किसी भी तरह की शंका होने की स्थिति में डिस्पेंसरी में आइसोलेट किया जाएगा. परमार ने कहा कि इस बार पत्रकारों को संख्या भी कमी की गई है और सभी संस्थानों से एक पत्रकार को पास की अनुमति दी गई है.

जायजा लेते हुए स्पीकर विपिन सिंह परमार.


इतने सवाल पूछे जाएंगे

परमार ने कहा कि 577 तारांकित और 228 आतारांकित प्रश्न सदन सच विधानसभा सचिवालय को मिले हैं, जिसे सरकार को जवाब के लिए भेज गया हैं. विपिन सिंह परमार ने कहां की नियम 62 नियम 101 और 103 के तहत कई नोटिस विधानसभा सचिवालय को मिले हैं. विपिन परमार ने कहा कि माननीय सदस्यों ने अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों से जुड़े विकास कार्यों और समस्याओं को लेकर सचिव विधानसभा सचिवालय को प्रश्न भेजे हैं, जिन पर सदन के अंदर चर्चा करवाना उनकी प्राथमिकता में रहेगा.

सहयोग की अपील की

विपिन सिंह परमार ने सभी सदस्यों पत्रकारों और कर्मचारियों से मॉनसून सत्र के सफल आयोजन में सहयोग करने की अपील की और भगवान से प्रार्थना की कि मॉनसून सत्र में किसी भी अप्रिय घटना या कोरोना का कोई मामला सामने ना आए. बता दें कि 7 सितंबर को दोपहर 2:00 बजे 10 दिवसीय मॉनसून सत्र की कार्यवाही शुरू होगी. मॉनसून सत्र के हंगामेदार रहने के आसार हैं, क्योंकि विपक्ष कई मुद्दों पर सरकार को सदन में घेरेगा. जयराम सरकार के मंत्री विपक्ष को हमलों का जवाब देने की तैयारी कर चुके है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज