हिमाचल विस का मॉनसून सत्र: शराब पर सदन में दूसरे दिन भी हंगामा

News18 Himachal Pradesh
Updated: August 20, 2019, 6:16 PM IST
हिमाचल विस का मॉनसून सत्र: शराब पर सदन में दूसरे दिन भी हंगामा
हिमाचल विधानसभा के दूसरे दिन वॉकआउट करते कांग्रेस विधायक.

ऊना के कांग्रेस (Congress) विधायक सतपाल रायजादा ने कहा कि अवैध शराब (Liquor) प्रकरण में उन्हें घसीटने की कोशिश की गई है, जिस गाड़ी से शराब पकड़ी गई थी, पुलिस उस शराब को उनकी गाड़ी में शिफ्ट करना चाहती थी.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश के ऊना अवैध शराब मामले में स्थानीय कांग्रेस (Congress) विधायक सतपाल रायजादा का नाम आने का मामला तूल पकड़ गया है. मानसून सत्र  (Monsoon Session) के दूसरे दिन भी विपक्ष ने अपना आक्रामक रूख बरकरार रखा. सोमवार को सीएम जयराम ठाकुर के उस बयान पर विपक्ष ने सदन में हंगामा खड़ा किया, जिसमें सीएम जयराम ठाकुर ने विपक्ष पर माफिया के साथ खड़ा होने का आरोप लगाया था.

सीएम के बयान पर सवाल
नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने इस बयान के लिए सीएम से माफी मांगने की मांग की. लेकिन सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा बल्कि यह कहा था कि विपक्ष माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई पर संरक्षण कर रहा है. सीएम जयराम ठाकुर ने सदन में ही ऊना अवैध शराब मामले की सीआईडी जांच और एसपी ऊना को जांच से अलग रखने के आदेश दिए. लेकिन विपक्ष इस बात पर अड़ा था कि एसपी ऊना को ट्रांसफर किया जाए. इसी बीच करीब 41 मिनट तक सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच तकरार होती रही, लेकिन बाद में विधानसभा अध्यक्ष डा राजीव बिंदल ने प्रश्नकाल शुरू कर दिया.

विपक्ष के साथ सिंघा

इस पर विपक्ष भड़क गया और वेल में आकर नारेबाजी करने लग पड़ा और बाद में वाकआउट कर दिया. आज विपक्ष के साथ सीपीआईएम विधायक राकेश सिंघा भी खड़े दिखे. उन्होंने कहा कि जो घटना हुई है, वैसी घटना किसी भी विधायक के साथ हो सकती है. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि न्याय मिलने तक जंग जारी रहेगी. कांग्रेस पार्टी हर तरह के माफिया के खिलाफ है. सरकार जैसी भी कार्रवाई करनी है, वह करें। लेकिन माफियाओं की आड़ में जिस तरह ऊना के एसपी ने विधायक सतपाल रायजादा को लपेटने की कोशिश की है, वह बर्दाश्त नहीं होगी. सरकार पहले एसपी ऊना को हटाएं.

ये बोले रायजादा
ऊना के विधायक सतपाल रायजादा ने कहा कि अवैध शराब प्रकरण में उन्हें घसीटने की कोशिश की गई है, जिस गाड़ी से शराब पकड़ी गई थी, पुलिस उस शराब को उनकी गाड़ी में शिफ्ट करना चाहती थी. इसके लिए उनके पीएसओ पर भी दवाब बनाया गया. अब पीएसओ को भी जांच के दायरे में लाया गया है. लेकिन सारी जड़ राजनीतिक द्वेष की थी, जिस वजह से सारा मामला सामने आया है.
Loading...

ये बोले सीएम
सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि अभी मामले में किसी निष्कर्ष पर सरकार नहीं पहुंची है तो ऐसे में एसपी को कैसे हटाएं. अगर सीआईडी जांच में एसपी की संलिप्तता पाई जाती है तो सरकार उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई अमल में लाएगी.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस विधायक से जुड़े अवैध शराब मामले की होगी CID जांच:CM

भारी बारिश के चलते फंसे मिनिस्टर, एयरलिफ्ट कर बचाया गया

सुंदरनगर पुलिस ने 17.19 ग्राम चिट्टे संग पकड़ा युवक, गिरफ्तार

VIDEO:जिंदगी के लिए मौत से जंग, मरीज को उफनती खड्ड पार करवाई

जब लाइसेंस रिन्यूअल के लिए लाइन में लगे SP सिरमौर अजय शर्मा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 6:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...