अपना शहर चुनें

States

सर्वदलीय बैठक: हिमाचल विधानसभा के शीतकालीन सत्र को लेकर संशय बरकरार

हिमाचल विधानसभा का विंटर सेशन.
हिमाचल विधानसभा का विंटर सेशन.

Himachal Assembly Winter Session: शीतकालीन सत्र 7 दिसंबर से 11 दिसंबर तक धर्मशाला में बुलाया गया है, जबकि प्रदेश के चार जिलों में 15 दिसंबर तक नाइट कर्फ्यू भी लगाया गया है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल विधानसभा (Himachal Assembly) के शीतकालीन सत्र (Winter Session) को लेकर सत्तापक्ष-विपक्ष के बीच तनातनी शुरू हो गई है. कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण सरकार ने सर्वदलीय बैठक (All Party Meeting) बुलाने के लिए संसदीय कार्यमंत्री सुरेश भारद्वाज को अधिकृत किया था, जिसकी बैठक हुई और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने साफतौर पर कहा कि सत्र (Session) बुलाया जाना चाहिए, लेकिन स्थान सरकार तय करें कि धर्मशाला में होना है या शिमला में. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री इस तर्क पर सीएम जयराम ठाकुर ने तल्ख टिप्पणी की.

क्या बोले सीएम जयराम

सीएम ने कहा कि कांग्रेस के ज्यादातार विधायक चाहते हैं कि सत्र स्थगित होना चाहिए, लेकिन मुकेश अग्निहोत्री कैसे नेता प्रतिपक्ष हैं, जिन्हें यही जानकारी नहीं है कि उनके विधायक क्या चाहते हैं. उन्हें बोलने से पहले अपने विधायकों की राय लेनी चाहिए थी. सीएम जयराम ठाकुर कहा कि शीतकालीन सत्र न करने की हमारी कोई मंशा नहीं है. हमने पहले ही सत्र की अधिसूचना भी जारी की है. हम नेता प्रतिपक्ष को केवल यह बताना चाहते हैं कि उनके अधिकतर विधायक सत्र को टालने के पक्ष में हैं, लेकिन सीएम ने यह साफ कर दिया है कि सत्र केवल धर्मशाला में ही होगा.



7 से 11 दिसंबर तक धर्मशाला में सत्र
गौरतलब है कि शीतकालीन सत्र 7 दिसंबर से 11 दिसंबर तक धर्मशाला में बुलाया गया है, जबकि प्रदेश के चार जिलों में 15 दिसंबर तक नाइट कर्फ्यू भी लगाया गया है, जिसमें कांगड़ा जिला भी शामिल है. इसी तरह से कई गतिविधियों पर भी बंदिशें लगी हैं. शुक्रवार को हुई सर्वदलीयबैठक में नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के अलावा सीपीआईएम विधायक राकेश सिंघा और निर्दलीय विधायक होशियार सिंह भी मौजूद रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज