लाइव टीवी

CAA के बीच NRC की पैरवी: हिमाचल BJP अध्यक्ष सत्ती बोले-देश धर्मशाला नहीं
Shimla News in Hindi

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 19, 2019, 12:16 PM IST
CAA के बीच NRC की पैरवी: हिमाचल BJP अध्यक्ष सत्ती बोले-देश धर्मशाला नहीं
हिमाचल भाजपा के अध्यक्ष सत्तपाल सत्ती.

Himachal BJP President Satti on CAA and NRC: सतपाल सिंह सत्ती ने एनआरसी के साथ कॉमन सिविल कोड और दो बच्चों के कानून की भी पैरवी कर डाली है.

  • Share this:
शिमला. अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले हिमाचल बीजेपी (Himachal BJP) के आउटगोइंग प्रेजिडेंट सतपाल सिंह सत्ती (Satpal Satti) नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर विरोधियों पर खूब बरसे हैं. नागरिकता संशोधन कानून पर पूरे देश में सियासी बवाल मचा हुआ है और कई जगह पर प्रदर्शन भी हो रहे हैं. सतपाल सिंह सत्ती ने एनआरसी के साथ कॉमन सिविल कोड और दो बच्चों के कानून की भी पैरवी कर डाली है.

‘70 साल से देश को धर्मशाला बनाकर रखा’
एनआरसी में अपनी नागरिकता साबित करने के झमेले पर सत्ती ने कहा कि किसी को भी इससे दिक्कत नहीं होनी चाहिए. अपनी नागरिकता साबित करने में क्या गलत है? देश धर्मशाला नहीं है. 70 साल से इसे धर्मशाला बनाकर रखा गया हैय. मोबाइल सिम लेने के लिए लोग चार घंटे लाइन में खड़े रहते हैं. लोगों को यह काम अपने गांव या जिला मुख्यालय में भी करना होगा, उससे किसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए.

कॉमन सिविल कोड की भी पैरवी की



नागरिकता संशोधन कानून पर बरपे हंगामे पर सत्ती ने कहा कि कुछ लोग चाहते हैं कि कॉमन सिविल कोड और दो बच्चों का कानून भी ना आए. उसके लिए इस कानून का विरोध कर भूमिका बांध रहे हैं. एनआरसी के साथ-साथ ये कानून भी जरूरी हैं. तथाकथित बुद्धिजीवी लोगों ने देश की जनता को गुमराह किया है, जिसके कारण अर्थव्यवस्था भी खराब हुई हैं और लोगों के रोजगार रुके हुए हैं. आज मौका मिला है तो पीएम मोदी और अमित शाह देश को मजबूत करने में जुटे हैं. मोदी दो बार पीएम बने, जिससे विपक्ष ने सबक नहीं लिया. अब तीसरी बार 2024 में प्रधानमंत्री बनेंगे.

हिमाचल में छिटपुट प्रदर्शन
कानून को लेकर हिमाचल में छिटपुट प्रदर्शन हुए हैं. मंडी कॉलेज और शिमला में एनएसयूआई ने कानून के विरोध में प्रदर्शन किया है. इसके अलावा, कहीं से प्रदर्शन की सूचना नहीं है. साथ ही इस मामले में सूबे से किसी भी तरह की हिंसक घटना सामने नहीं आई है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल: लेक्चरर ने नाबालिग छात्रा से Whats App पर मांगी अश्लील तस्वीरें, FIR

हिमाचल ‌BJP के नए सरदार पर मंथन: ‘जो नाम मीडिया में, उन्हीं में से अध्यक्ष‘

Exclusive: ये है शिमला की 'गुड़िया' के साथ हुई दरिंदगी की पूरी कहानी

हिमाचल: रिकॉर्ड तोड़ने लगे प्याज के दाम, शिमला में 140 रुपये किलो पहुंची कीमत

शिमला MC चुनाव: कभी निगम में क्लर्क थी सत्या कौंडल, अब चुनी गई मेयर

किन्नौर में टक्कर के बाद खाई में गिरी कार, दो सवारों की मौत, 4 घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 19, 2019, 12:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर