Home /News /himachal-pradesh /

BJP Meeting in Shimla: हिमाचल BJP कार्यसमिति की मीटिंग में 3 दिन के मंथन में ‘विष’ निकला या ‘अमृत’, पढ़ें पूरी कहानी

BJP Meeting in Shimla: हिमाचल BJP कार्यसमिति की मीटिंग में 3 दिन के मंथन में ‘विष’ निकला या ‘अमृत’, पढ़ें पूरी कहानी

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कार्यक्रम को वर्चुअली संबोधित किया और कहा कि 2022 में जयराम ही पार्टी का चेहरा होंगे और उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कार्यक्रम को वर्चुअली संबोधित किया और कहा कि 2022 में जयराम ही पार्टी का चेहरा होंगे और उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा.

Himachal Bjp Working Committee meeting in Shimla: भाजपा ने 24 नवंबर को मीटिंग में चार सीटों पर उपचुनाव में हार के कारणों पर मंथन किया गया. रिपोर्ट के अनुसार, टिकट का चयन सही नहीं होना, क्षेत्र की अनदेखी, मंडी में सुखराम परिवार को भरोसे में न लेना और वीरभद्र सिंह फैक्टर को नजरअंदाज करना पार्टी को भारी पड़ा. हालांकि मुख्यमंत्री जयराम ने कहा कि हिमाचल भाजपा ने कई उतार चढ़ाव से होते हुए न सिर्फ प्रदेश में बल्कि देश मे भी अपनी अग्रणी भूमिका स्थापित की है.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की तीन दिवसीय कार्यसमिति की बैठक खत्म हो गई है. भाजपा की तीन दिवसीय कार्यसमिति की बैठक में उपचुनावों में हार, संगठन और सरकार समेत कई मुद्दों पर मैराथन बैठकों का दौर चला. शुक्रवार को कार्यसमिति की बैठक के अंतिम दिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने सभी नेता और कार्यकर्ताओं को मिशन 2022 के लिए कमर कसकर तैयार रहने का आह्वान किया, तो वहीं पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने भी जीत के लिए टिप्स दिए.

मुख्यमंत्री जयराम ने कहा कि हिमाचल भाजपा ने कई उतार चढ़ाव से होते हुए न सिर्फ प्रदेश में बल्कि देश मे भी अपनी अग्रणी भूमिका स्थापित की है. सीएम ने संगठनकर्त्ता आधारित पार्टी में कार्यकर्त्ता की सक्रिय भूमिका पर बल देने की बात कही. जय राम ठाकुर ने कहा कि देश भर में हिमाचल भाजपा के संगठन मॉडल को देश में प्रतिस्थापित किया जा रहा है.

सीएम ने इसके लिए संगठन महा मंत्री की जमकर प्रंशसा की. साथ ही सीएम ने कार्यकर्ताओं से सरकार के विकास कार्यों को आम जन तक पहुंचाने में अपनी सक्रिय भूमिका को अदा करने का आह्वान किया. सरकार, संगठन और कार्यकर्ता में आपसी संवाद व सम्पर्क बनाए रखने की बात कही. उप चुनावों में हार की ज़िम्मेदारी अपने पर लेते हुए सीएम ने कहा कि इस जनादेश से सीख लेकर सकारात्मकता से आगे बढ़ना होगा. इससे पहले, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कार्यक्रम को वर्चुअली संबोधित किया और कहा कि 2022 में जयराम ही पार्टी का चेहरा होंगे और उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा. साथ ही उन्होंने जयराम सरकार के काम की तारीफ की.

बैठक में भाजपा प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने कहा कि संगठन और सरकार ने हर वर्ग की चिंता की और बड़ी संख्या में सभी वर्गों के लिए योजनाएं बनाई हैं.

धूमल ने दी सलाह, कहा-सकारात्मक होकर काम करना है
वहीं, दूसरी ओर पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने कहा की भाजपा जो कार्यक्रम तय करेगी उनको धरातल तक ले जाना है, सरकार की जन कल्याण योजनाओं को घर घर तक पहुंचना है, इससे भाजपा और मजबूत होगी. धूमल ने कहा कि हम सब कार्यकर्ताओं की सुनेंगे और कार्यकर्ताओं को साथ लेकर 2022 में फिर सरकार बनाएंगे. उन्होंने कहा कि भाजपा ने कई वर्षों से मेहनत की है जिससे भाजपा का इतना बड़ा स्वरूप है. धूमल ने कहा कि हमें कोई भी कमी लगती है तो नेतृत्व से बात करनी है. हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश और प्रदेश के लिए बहुत काम किया है, उनके काम से फर्क पड़ता है देश मज़बूत होता है. उन्होंने कहा कि सभी को पार्टी के हित मे सोचना है, कार्यकर्ताओं के बारे में सोचना है और सकारात्मक दिशा में काम करना है. साथ ही दावा किया कि हिमाचल में एक बार फिर कमल खिलेगा.उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता में सुख भोगने नहीं आती है अपितु गरीब जनता की सेवा करने आती है.

ओर पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा की भाजपा जो कार्यक्रम तय करेगी उनको धरातल तक ले जाना है.

सरकार ने हर वर्ग के लिए बनाई योजनाएं:खन्ना
बैठक में भाजपा प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने कहा कि संगठन और सरकार ने हर वर्ग की चिंता की और बड़ी संख्या में सभी वर्गों के लिए योजनाएं बनाई हैं. उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ताओं को अपनी सरकार के कामों को जनता तक पहुंचना है. उन्होंने विधायकों से कहा कि अब सभी विधायक 4 साल का रिपोर्ट कार्ड बनाएंगे. उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ताओं को सम्मान देना है, हर घर पर सम्पर्क कर बड़ा झंडा लगाना है और नाम की पट्टिका भी लगानी है. प्रभारी ने जन संपर्क बढाने का आवहान किया. साथ ही कहा कि जन संपर्क की अहम भूमिका होती है इससे फीडबैक मिलता है, आज जनता मानती है कि हमारी सरकारों ने जन कल्याण के काम किए है.

पहले और दूसरे दिन क्या हुआ
24 नवंबर को मीटिंग के पहले दिन हार के कारणों पर मंथन किया गया. इस दौरान पार्टी चार सीटों पर उपचुनाव में भाजपा की हार के कारणों पर मंथन किया.रिपोर्ट के अनुसार, गलत टिकट आबंटन और काडर का असंतुष्ट होना हार की बड़ी बजह बताया गया. अधिकतर रिपोर्ट के अनुसार टिकट का चयन सही नहीं होना, क्षेत्र की अनदेखी, मंडी में सुखराम परिवार को भरोसे में न लेना और वीरभद्र सिंह फैक्टर को नजरअंदाज करना पार्टी को भारी पड़ा.

बैठक के अंतिम दिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने सभी नेता और कार्यकर्ताओं को मिशन 2022 के लिए कमर कसकर तैयार रहने का आह्वान किया.

पार्टी की ओर से मुख्य प्रवक्ता रणधीर शर्मा (Randhir Singh) मीडिया के सामने आए. उन्‍होंने साफ किया कि हार का कारण कार्यकर्ताओं और पार्टी नेतृत्व का अति आत्मविश्वास, महंगाई और कांग्रेस प्रत्याशियों को मिली सहानुभूति रहा. कांग्रेस को एक सीट को छोड़कर अन्य तीनों जगह सहानुभूति का वोट मिला. फेरबदल के सवाल पर उन्होंने साफ किया कि मंत्री परिषद और संगठन में फेरबदल का फैसला आलाकमान करेगा. रणधीर शर्मा ने कहा कि कुछ स्थानों पर भितरघात हुआ है. पार्टी भितरघातियों की सूची तैयार कर रही है और जल्द ही उन पर कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि अनुसानहीनता करने वाला चाहे संगठन के भीतर हो या सरकार में, सब पर कार्रवाई होगी.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर