Home /News /himachal-pradesh /

Jubbal Kotkhai By-elections: चेतन बरागटा का समर्थन करने पर BJP ने 11 पदाधिकारियों को पार्टी से निकाला

Jubbal Kotkhai By-elections: चेतन बरागटा का समर्थन करने पर BJP ने 11 पदाधिकारियों को पार्टी से निकाला

शिमला में भाजपा से बागी चेतन बरागटा चुनाव प्रचार के दौरान.

शिमला में भाजपा से बागी चेतन बरागटा चुनाव प्रचार के दौरान.

Jubbal Kotkhai By-elections: जुब्बल कोटखाई सीट से चेतन बरागटा को काफी समर्थन मिल रहा है. वह भाजपा से बागी होकर यहां से चुनाव लड़ रहे हैं. उनके मुकाबेल नीलम सरैइक और कांग्रेस के रोहित ठाकुर मैदान में हैं. हालांकि, भाजपा के कई नेता यहां से चेतन का समर्थन कर चुके हैं और अब पार्टी इन्हें बाहर का रास्ता दिखा रही है.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश के जुब्बल-कोटखाई विधानसभा क्षेत्र (Jubbal Kotkhai Assembly seat) में बागी होकर चुनाव लड़ने के बाद चेतन बरागटा के समर्थकों पर भाजपा (bjp) का चाबुक जारी है. सोमवार को महिला मोचा के पदाधिकारियों को पार्टी से निकालने के बाद अब मंगलवार को भी भाजपा ने कार्रवाई की है और चेतन बरागटा (Chetan Bragta) का समर्थकों को पार्टी से निष्काषित कर दिया है.

हिमाचल भाजपा ने जुब्बल कोटखाई विधानसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव में पार्टी विरोधी कार्य करने पर 11 पदाधिकारियों को पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया है. पार्टी ने मंडल उपाध्यक्ष महावीर झगटा, जिला उपाध्यक्ष इंद्र चौहान, मंडल उपाध्यक्ष सुरेंद्र धौलटा के अलावा कार्यसमिति सदस्य कृष्ण चंद मांटा, वीरेंद्र चौहान, नरेंद्र चौहान, अशोक चौहान, निक्कम सिंह बालटू, बलवीर ठाकुर, श्याम शर्मा और मोहिंद्र झगटा को निष्कासित किया है. मंगलवार सुबह पार्टी की ओर से निष्कासन आदेश जारी किए गए हैं. इससे पहले, भाजपा, युवा मोर्चा और महिला मोर्चा पदाधिकारियों पर भी कार्रवाई का चाबुक चला था.

क्या बोले सुरेश कश्यप

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने स्पष्ट रूप से कहा कि इन उपचुनावों में जिन पदाधिकारियों को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित किया गया है उनको वापस नहीं लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि भाजपा एक अनुशासित राजनीतिक दल है और किसी भी प्रकार की पार्टी विरोधी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस बात को भाजपा प्रभारी अविनाश राय खन्ना एवं भाजपा के प्रभारी संजय टंडन ने कई बार कार्यक्रमों में भी दोहराया है.कश्यप ने कहा कि अनुशासन भारतीय जनता पार्टी की रीढ़ की हड्डी है और जिसके कारण प्रत्येक कार्यकर्ता को पार्टी की नीतियों पर पूरा विश्वास है. भाजपा का संगठन बूथ स्तर तक मज़बूत है और इन उपचुनवों में सभी कार्यकर्ता पूरे जोश के साथ काम कर रहे है. उन्होंने कहा सत्ता का सेमीफाइनल भी हम जीतेंगे और 2022 का फाइनल भी. इन चुनावों में हम चारों सीटों पर जीत दर्ज करेंगे.
सोमवार को महिला मोर्चा ने की थी कार्रवाई
इससे पहले, सोमवार को भाजपा महिला मोर्चा और भाजयुमो के जुब्बल-कोटखाई मंडल अध्यक्षों समेत 15 और पदाधिकारियों को छह-छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया गया. निष्कासित होने वालों में भाजयुमो मंडल अध्यक्ष जतिन चौहान, जिला उपाध्यक्ष महासू अजय बिष्ट, जिला सचिव रिंकू परवीन चौहान, जिला प्रवक्ता वेद शर्मा, सह प्रवक्ता राजेश छिंजवान, मंडल महामंत्री चेतन कडैइक और काकू के अलावा मंडल कोषाध्यक्ष हितेष खागटा शामिल हैं.

वहीं, जुब्बल-कोटखाई मंडल अध्यक्ष नैना तनेटा, मंडल उपाध्यक्ष पिंकी कोटवी, महामंत्री रजनी सलाकटा, महासू जिला उपाध्यक्ष विजेता खिमटा, महासू जिला सचिव पूनम मोखटा, विशेष आमंत्रित सदस्य रूबजा नेपटा और मीनाक्षी मानटा को पार्टी से निष्कासित कर दिया है. इन पर यह कार्रवाई भाजपा प्रत्याशी नीलम सरैईक के खिलाफ प्रचार करने पर की गई थी. कुछ दिन पहले ही भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप ने पार्टी के 13 नेताओं को छह साल के लिए निष्कासित करने के आदेश जारी किए थे. सुरेश कश्यप का कहना है कि पार्टी इन लोगों को अब कभी वापस अपने दल में नहीं लेगी.
बरागटा पहले ही पार्टी से निकाले गए हैं
बता दें कि पूर्व मंत्री नरेंद्र बरागटा के बेटे चेतन बरागटा यहां से आजाद चुनाव लड़ रहे हैं. उनकी टिकट काटकर भाजपा ने नीलम सरैइक को दी है. नीलम के विरोध में चेतन ने ताल ठौकी है. उन्हें भी पार्टी ने छह साल के लिए निष्कासित किया है.

Tags: BJP, Himachal Congress, Himachal election, Shimla

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर