• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • Himachal Bypolls: सितंबर में हो सकता है चुनाव का ऐलान, हरियाणा से आएगी EVM मशीन

Himachal Bypolls: सितंबर में हो सकता है चुनाव का ऐलान, हरियाणा से आएगी EVM मशीन

हिमाचल में उपचुनाव का ऐलान जल्द किया जा सकता है.

हिमाचल में उपचुनाव का ऐलान जल्द किया जा सकता है.

Himachal By Election Latest Update: माना जा रहा है कि हिमाचल (Himachal Chunav) में सितंबर महीने में उपचुनाव की पूरी संभावना है. इसे लेकर चुनाव आयोग (Election Commission) ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में सितंबर महीने में चुनाव होने की पूरी संभावना है. प्रदेश में मंडी लोकसभा सीट (Mandi Lok Sabha seat) और तीन विधानसभा सीटों पर उप चुनाव (Himachal By Election) होने हैं. इसके लिए हिमाचल के इलेक्शन डिपार्टमेंट ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. सूत्रों के अनुसार, हिमाचल में सितंबर माह के दूसरे सप्ताह में चुनाव होने की संभावना है. देश में विधानसभा और लोकसभा की 90 सीटों पर उप चुनाव होने हैं, जिसकी तारीखों का एलान भारत निर्वाचन आयोग करेगा. ऐसी संभावना जताई जा रही है कि एक साथ ही सभी उप चुनावों का एलान किया जा सकता है. कोविड की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए आयोग कोविड नियमों के अलावा अतिरिक्त एतियाती कदम उठाएगा.
बता दें कि प्रदेश में मंडी लोकसभा सीट भाजपा सांसद रामस्वरूप शर्मा (Ramswaroop Sharma) के निधन के बाद खाली हो गई है. कांगड़ा जिला की फतेहपुर विधानसभा सीट कांग्रेस के सुजान सिंह पठानिया, शिमला जिले की जुब्बल-कोटखाई सीट भाजपा के नरेंद्र बरागटा और सोलन जिले की अर्की विधानसभा सीट पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) के निधन के चलते खाली हो गई है.

चुनाव आयोग ने शुरु की तैयारी

हिमाचल प्रदेश (Himachal Election) के चुनाव की तैयारियां की बात करें तो मंडी, फतेहपुर और जुब्बल-कोटखाई के लिए एम 3 श्रेणी की ईवीएम और वीपीपैट मशीनों की पहले चरण की चैकिंग पूरी कर ली गई है. इन मशीनों को हरियाणा से मंगवाया गया है. अर्की विधानसभा क्षेत्र के लिए ईवीएम मशीनों को लाना अभी बाकी है. जल्द ही ये मशीनें भी पहुंच जाएंगी. विभाग ने इलैक्शन ड्यूटी के लिए कर्मचारियों की सूची भी तैयार कर ली है. कर्मचारियों का डाटा तैयार किया जा चुका है और रेंडमाइजेशन सॉफ्टवेयर में अपलोड कर लिया गया है. जल्द ही चुनावों की अधिसूचना जारी कर दी जाएगी. आदर्श आचार संहिता लागू होने के 28 दिन के भीतर मतदान करवाया जाएगा. उप चुनावों की प्रकिया को अंतिम रूप देने का कार्य चल रहा है. माना जा रहा है कि अगस्त के दूसरे सप्ताह में निर्वाचन आयोग की ओर से उप चुनावों संबंधी महत्वपूर्ण एलान किए जाएंगे.

सरकार ने बोर्ड-निगमों में नेताओं की एडजेस्टमेंट की

चुनावों को देखते हुए राज्य सरकार ने बोर्ड निगमों में नेताओं की एडजस्टमेंट भी शुरू कर दी है. शुक्रवार को राज्य सरकार ने कांगड़ा और सोलन जिले से संबंध रखने वाले नेताओं को तोहफे दिए हैं. भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष ओम प्रकाश चौधरी को पिछड़ा वर्ग विकास निगम का उपाध्यक्ष बनाया गया है और कांगड़ा जिले से ही संबंध रखने वाले नेता संजय गुलेरिया को नेशनल सेविंग स्टेट एडवाइजरी बोर्ड का उपाध्यक्ष बनाया गया है. गुलेरिया के पास फिलहाल कोई बड़ा नहीं था, वे भाजपा कार्यसमिति के सदस्य हैं. वहीं सोलन जिले से संबंध रखने वाली भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेशाध्यक्ष रश्मि धर सूद पर्यटन विकास बोर्ड की उपाध्यक्ष बनाया गया है. उप चुनावों के लिए भाजपा के साथ साथ कांग्रेस भी जोरों-शोरों से तैयारियों में जुटी हुई है. दोनों ही दलों ने चुनावों के लिए फील्डिंग सजा ली है और डैमेज कंट्रोल की रणनीति को अमलीजामा पहनाया जा रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज