BJP चीफ व्हिप नरेंद्र बरागटा के निधन के चलते हिमाचल कैबिनेट की मीटिंग स्थगित

हिमाचल प्रदेश कैबिनेट की अहम बैठक स्थगित. (FILE PHOTO)

हिमाचल प्रदेश कैबिनेट की अहम बैठक स्थगित. (FILE PHOTO)

Himachal Cabinet Meeting Cancelled: नरेंद्र बरागटा का जन्म 15 सितंबर 1952 को शिमला जिले के जुब्बल-कोटखाई में हुआ था. उन्होंने हिमाचल यूनिवर्सिटी से राजनीतिक विज्ञान में पोस्ट ग्रेजुएशन की थी. उनके दो बेटे हैं.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश की शनिवार को शिमला (Shimla) के पीटरहॉफ होटल में होने वाली कैबिनट मीटिंग (Cabinet Meeting) को रद्द कर दिया गया है. चीफ व्हिप और शिमला के जुब्बल कोटखाई से भाजपा विधायक नरेंद्र बरागटा के निधन के चलते यह फैसला लिया गया है. अब बैठक कब होगी, इसकी जानकारी फिलहाल, नहीं मिली है. कैबिनेट मंत्री राकेश पठानिया (Rakesh Pathania) ने यह जानकारी दी है. हिमाचल में तीन दिन के शोक की भी घोषणा की है.

क्यों लिया गया फैसला?

दरअसल, नरेंद्र बरागटा हिमाचल विधानसभा में सरकार के चीफ व्हिप थे. उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा और सुविधाएं प्राप्त थी. इसके चलते ही यह फैसला लिया गया है. कैबिनट मंत्री राकेश पठानिया ने कहा कि विधायक और चीफ व्हिप नरेंद्र बरागटा के निधन के चलते बैठक स्थगित की गई. वहीं, प्रदेश में तीन दिन का शोक घोषित किया गया है.

कौन थे बरागटा
नरेंद्र बरागटा का जन्म 15 सितंबर 1952 को शिमला जिले के जुब्बल-कोटखाई में हुआ था. उन्होंने हिमाचल यूनिवर्सिटी से राजनीतिक विज्ञान में पोस्ट ग्रेजुएशन की थी. उनके दो बेटे हैं. साल 1978-82 तक वह जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष रहे. साल 1993 से 98 तक उन्हें जिला भाजपा का सचिव बनाया गया. इसके अलावा, वह भाजपा राष्ट्रीय किसान मोर्टा के सचिव भी रहे. पहली बार, वह साल 1998 में विधायक बने. इसके बाद दोबारा जुब्बल-कोटखाई से 2007 में विधायक बने. क्योंकि, 2007 में प्रदेश में भाजपा सरकार थी तो उन्हें धूमल सरकार में बागवानी मंत्री बनाया गया. साथ ही उन्हें स्वास्थ्य महकमा भी सौंपा गया. वह तीसरी बार 2017 में भाजपा के विधायक बने. हालांकि, इस बार उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया और सरकार ने उन्हें विधानसभा में चीफ व्हिप की जिम्मेदारी सौंपी थी. वह बीते 15 दिन से पीजीआई चंडीगढ़ में फेफड़ों के संक्रमण के चलते भर्ती थी.

सीएम ने जताया दुख

सीएम जयराम ठाकुर ने नरेंद्र बरागटा के निधन पर शोक जताया है. उन्होंने लिखा कि भारतीय जनता पार्टी हिमाचल के वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री व प्रदेश सरकार में मुख्य सचेतक श्री नरेंद्र बरागटा जी के निधन का समाचार सुन कर स्तब्ध हूँ. आज हमने एक ईमानदार एवं कर्मठ नेता को खोया है. जुब्बल-कोटखाई एवं हिमाचल भाजपा सहित यह पूरे हिमाचल के लिए अपूरणीय क्षति है. ईश्वर बरागटा जी की दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें तथा उनके शोकग्रस्त परिवार को इस मुश्किल घड़ी में इस असहनीय दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें, ईश्वर से ऐसी प्रार्थना करता हूँ. इसके अलावा, भाजपा और कांग्रेस नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज