हिमाचल कैबिनेट मीटिग: बढ़ते कोरोना के चलते 50% सीटिंग कैपेसिटी के साथ ही चलेंगी बसें

हिमाचल में एचआरटीसी बस में अब 50 फीसदी है सवारियां बैठेंगी.

Himachal Cabinet Meeting: मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में यहां हुई राज्य मंत्रिमण्डल की बैठक में निर्णय लिया गया कि कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए विद्यार्थियों के लिए सभी सरकारी विद्यालय और महाविद्यालय 31 दिसम्बर, 2020 तक बंद रहेंगे,

  • Share this:
शिमला. हिमाचल में बढ़ते कोरोना (Corona virus) के मामलों को देखते हुए चार जिलों में नाइट कफर्यू (Night Curfew) लगाने का निर्णय किया गया है. जयराम मंत्रिमंडल की राज्य सचिवालय में हुई बैठक में कुल्लू, मंडी, शिमला (Shimla) और कांगड़ा (Kangra) जिला में रात 8 बजे से सुबह के 6 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. इन जिलों में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं, इसलिए पहले चरण में यह चार जिले 24 नवंबर से 15 दिसंबर तक नाइट कर्फ्यू के अधीन रहेंगे.

स्कूल नए साल तक बंद

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में यहां हुई राज्य मंत्रिमण्डल की बैठक में निर्णय लिया गया कि कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए विद्यार्थियों के लिए सभी सरकारी विद्यालय और महाविद्यालय 31 दिसम्बर, 2020 तक बंद रहेंगे, हालांकि 26 नवम्बर, 2020 से ऑनलाइन कक्षाएं शुरू की जाएंगी। अध्यापक 31 दिसम्बर, 2020 तक घर से शिक्षण कार्य जारी रखेंगे. उच्च विद्यालयों, वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों और महाविद्यालयों के कार्यालय 26 नवम्बर, 2020 से कार्यशील होंगे. प्रधानाचार्य आवश्यकता के अनुसार संकाय के सदस्यों को बुलाने के लिए स्वतंत्र होंगे. बैठक में निर्णय लिया गया कि शीतकाल में बन्द रहने वाले शिक्षण संस्थान पहली जनवरी से 12 फरवरी, 2021 तक बन्द रहेंगे यद्यपि शीतकाल के दौरान ऑनलाइन माध्यम से अध्ययन कार्य जारी रहेगा.

विंटर स्कूलों का सत्र बढ़ेगा

शीतकाल में बन्द रहने वाले विद्यालयों का सत्र बढ़ाया जाएगा और आरटीई-2009 के प्रावधान के अनुसार, पहली से चैथी और छठी व सातवीं कक्षा के विद्यार्थियों को प्रमोट किया जाएगा. चूंकि इन विद्यालयों और महाविद्यालयों के विद्यार्थी कक्षाओं में उपस्थित नहीं होंगे, इसलिए शीतकालीन संस्थानों में तैनात अध्यापकों को वर्ष 2021-22 का शीतकालीन अवकाश लेने की अनुमति प्रदान की जाएगी. बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि शीतकालीन और ग्रीष्मकालीन स्कूलों में कक्षा पांचवी और 8वीं, 9वीं और 11वीं की अन्तिम परीक्षाएं एक साथ मार्च, 2021 में आयोजित की जाएंगी. शीतकालीन और ग्रीष्मकालीन स्कूलों की 10वीं और 12वीं कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाएं हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा पाठ्यक्रम में 30 प्रतिशत छूट के साथ मार्च, 2021 में आयोजित की जाएगी.



कर्मचारियों के लिए 50-50 का फार्मूला 

मंत्रिमण्डल ने कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के सरकारी कर्मचारियों की उपस्थिति 50 प्रतिशत तक प्रतिबन्धित करने का निर्णय लिया है. 31 दिसम्बर, 2020 तक पहले तीन दिनों 50 प्रतिशत कर्मचारी कार्यालय में उपस्थित रहेंगे और शेष 50 प्रतिशत अगले तीन दिनों तक कार्यालय में उपस्थित रहेंगे.

राजनीतिक जनसभाएं और जनमंच कार्यक्रम स्थगित 

मंत्रिमण्डल ने निर्णय लिया है कि खुले स्थलों पर सभी सामाजिक, राजनतिक, सांस्कृतिक और खेल आदि समारोहों में कि सामाजिक दूरी के नियमों की अनुपालना के साथ केवल 200 लोग शामिल हो सकेंगे.यह भी निर्णय लिया गया है कि सार्वजनिक स्थलों में फेस मास्क ना लगाने पर 1000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा, प्रदेश में सभी बसें 15 दिसम्बर, 2020 तक केवल 50 प्रतिशत सवारियों के साथ चलाई जाएंगी. लेकिन राजनैतिक रैलियां, जनसभाएं और सरकार का जनमंच कार्यक्रम आगामी 15 दिसंबर तक स्थगित कर दिया गया है.

बसों में अब केवल 50 प्रतिशत यात्री करेंगे सफर 

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कैबिनेट ने सरकारी और प्राइवेट बसों में अब केवल 50 फीसदी यात्रियों के सफर करने को अपनी मंजूरी दी है. इसके अलावा बिना मास्क लगाकर घूमने वालों पर अब 1 हजार रूपये जुर्माना करने का भी प्रावधान किया गया है.

विधानसभा के शीतकालीन सत्र पर पैदा हुआ संशय

दिसंबर माह में धर्मशाला में होने वाले शीतकालीन सत्र पर संशय पैदा हो गया है. दरअसल, कोरोना के बढ़ रहे मामलों के चलते सरकार ने संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज को सर्वदलीय बैठक करने का जिम्मा सौंपा गया है. इसमें शीतकालीन सत्र क्या जरूरी है. इस पर विपक्षी दलों की राय लेने को कहा गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.