Assembly Banner 2021

हिमाचल के CM जयराम ठाकुर का बीपी बढ़ा, दवा लेने पहुंचे PGI चंडीगढ़

वहीं, इन आरोपों को खारिज करते हुए किन्नौर के उपायुक्त गोपाल चंद ने कहा कि दो महीने से किन्नौर में फंसे बागवानी मजदूरों को न केवल मंडी बल्कि शिमला और कुल्लू सहित अन्य जिलों में भी भेजा गया. (फाइल फोटो)

वहीं, इन आरोपों को खारिज करते हुए किन्नौर के उपायुक्त गोपाल चंद ने कहा कि दो महीने से किन्नौर में फंसे बागवानी मजदूरों को न केवल मंडी बल्कि शिमला और कुल्लू सहित अन्य जिलों में भी भेजा गया. (फाइल फोटो)

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) को शुक्रवार देर शाम अचानक पीजीआई चंडीगढ़ (PGI Chandigarh) में भर्ती कराया गया. मुख्यमंत्री चंडीगढ़ के निकट रामगढ़ में एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए आए थे. वहीं उनकी तबीयत खराब हो गई. 

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)  के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) को शुक्रवार देर शाम पीजीआई चंडीगढ़ (PGI Chandigarh) में  इलाज करवाने पहुंचे. बिलासपुर में एक कार्यक्रम के दौरान उन्हें तकलीफ महसूस तो फिर वहां से चंडीगढ़ के लिए निकल गए.  गौरतलब है कि दवाई लेने के बाद मुख्यमंत्री चंडीगढ़ के निकट रामगढ़ में एक विवाह समारोह में शामिल हुए.

पीजीआई में करीब 40 मिनट तक भर्ती रहे
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को हाई ब्लड प्रेशर के चलते पीजीआई में पहुंचे थे. पीजीआई में मुख्यमंत्री का इलाज डॉक्टर विजयवर्गीय ने किया. वे पीजीआई में करीब 40 मिनट तक भर्ती रहे.  इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ स्वास्थ्य मंत्री के ओएसडी वीरेंद्र गर्ग भी उपस्थित रहे. स्वास्थ्य जांच के बाद उन्हें कुछ दवाइयां भी दी गईं. इससे पहले सीएम तीन दिन तक कांगड़ा प्रवास पर थे.

हिमाचल के वार्षिक अनुदान में 45 फीसदी की वृद्धि
इससे पहले हिमाचल ने वार्षिक अनुदान की धनराशि प्राप्त करने में पड़ोसी राज्यों को पछाड़ दिया है. हिमाचल को पड़ोसी राज्यों की तुलना में अधिक अनुदान राशि मिलने और बीते साल की अपेक्षा 45 फीसदी बढ़ोतरी के साथ ग्रांट मिलने पर पक्ष-विपक्ष ने खुशी जताते हुए 15 वें वित्त आयोग का आभार जताया. प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री गोबिंद सिंह ठाकुर ने अनुदान बढ़ने का श्रेय सीएम जयराम ठाकुर को देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने सफलतापूर्वक प्रदेश का पक्ष 15 वें वित्त आयोग के समक्ष रखा. यह उसी का नतीजा है कि अनुदान में 45 फीसदी की वृद्धि हुई है.



वन मंत्री ने प्रदेश के लोगों का जताया आभार 
वन मंत्री ने कहा कि प्रदेश में वन क्षेत्र बढ़ा है, जिस कारण वित्त आयोग ने फॉरेस्ट ग्रांट 7.5 फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी किया है. प्रदेश में हरियाली को बढ़ा पाना प्रदेश के लोगों से मिले सहयोग के कारण ही संभव हो पाया है. उन्होंने इसके लिए प्रदेशवासियों का आभार जताया.

ये भी पढ़ें - 

केजरीवाल का नया प्‍लान, देश भर में स्‍थानीय निकाय चुनाव लड़ेगी AAP

कांग्रेस का गायब हो जाना, दिल्ली में BJP की हार का कारण है: प्रकाश जावड़ेकर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज